जम्मू, राज्य ब्यूरो। मनरेगा के एक हजार करोड़ के बकाया को जारी करने की मांग को लेकर चार दिन से भूख हड़ताल कर रहे जम्मू कश्मीर पंचायत कांफ्रेंस उपराज्यपाल जीसी मुर्मु को छोड़ किसी से बात करने को तैयार नहीं है। डोगरा चौक में भूख हड़ताल जम्मू कश्मीर पंचायत कांफ्रेंस के प्रधान अनिल शर्मा की देखरेख में जारी है। भूख हड़ताल पर बैठे अन्य ग्रामीण प्रतिनिधियों में कठुआ के सरपंच सुरेंद्र सिंह व बिश्नाह के सरपंच जितेंद्र सिंह मुख्य हैं। कांफ्रेंस की 168 घंटे की भूख हड़ताल 10 दिसंबर तक जारी रहेगी। भूख हड़ताल को कश्मीर के प्रतिनिधियों ने भी समर्थन दिया है।

प्रशासन की ओर से पंचायत कांफ्रेंस को हड़ताल समाप्त करने के लिए प्रशासन ने कोशिशें शुरू कर दी हैं परंतु पंचायत कांफ्रेंस के प्रधान अनिल शर्मा ने स्पष्ट किया है कि वे केवल उपराज्यपाल से ही बात करेंगे। प्रशासन से अब ग्रामीणों के मुद्दों को लेकर कोई भी आश्वासन स्वीकार नही किया जाएगा। प्रदेश कांग्रेस के कुछ नेताओं ने भी डोगरा चौक में भूख हड़ताल कर रहे पंचायत कांफ्रेंस के प्रतिनिधियों को विश्वास दिलाया कि उन्हें हर प्रकार का सहयोग दिया जाएगा। डोगरा चौक पहुंचे कांग्रेस नेताओं में मुख्य प्रवक्ता रविंद्र शर्मा के साथ पूर्व मंत्री मंजीत सिंह व शब्बीर खान शामिल थे। उन्होंने पंचायत कांफ्रेंस के नेताओं से उनके मुद्दों को लेकर विचार विमर्श भी किया। 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस