भाटाधुलियां (पुंछ), गगन कोहली : जिले के चमरेड और भाटाधुलियां के जंगलों में 12 दिन से जारी सैन्य आपरेशन का पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आ गया है। सुरक्षा एजेंसियों के हाथ कुछ वीडियो लगे हैं, जिसमें जारी मुठभेड़ और सेना के नौ जवानों की शहादत की जिम्मेदारी आतंकी संगठन गजनवी फोर्स ने ली है।

इस समय गजनवी फोर्स की कमान रफीक नाई ऊर्फ सुलतान के हाथ में है, जो पुंछ के उपजिला मेंढर के नक्का गांव का रहने वाला है। यह गांव मुठभेड़ स्थल से मात्र दो किलोमीटर की दूरी पर है। सूत्रों के अनुसार, सुलतान इस समय गुलाम कश्मीर में छिपा बैठा है और वहीं से पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के इशारे पर इस आपरेशन को चला रहा है। यहीं नहीं, उसके पास इस आपरेशन की पल-पल की जानकारी भी पहुंच रही है। सुरक्षा एजेंसियां पुंछ में सुलतान के फैले नेटवर्क को तबाह करने में जुट गई हैं। माना जा रहा है कि जंगल में छिपे आतंकी भी गजनवी फोर्स के ही हैं।

सूत्रों के अनुसार, रफीक नाई उर्फ सुलतान पहले आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर था। उसने पुंछ जिले में कई आतंकी वारदात को अंजाम दिया और जब उसे लगा कि अब उसका बचना मुश्किल है तो वह वर्ष 2008 को सीमा पार करके गुलाम कश्मीर में चला गया और अब वहीं पर रहकर राजौरी व पुंछ दोनों जिलों में आतंकी गतिविधियों को बढ़ा रहा है।

सूत्रों के अनुसार, पिछले वर्ष अक्टूबर में सुरक्षा बलों ने पुंछ के मुगल रोड पर गजनवी फोर्स के दो आतंकियों को ढेर कर दिया था। इन आतंकियों को भी रफीक ने ही घुसपैठ करवाकर भारतीय क्षेत्र में भेजा था और यहां से कश्मीर जाने के लिए भी पूरा प्रबंध रफीक ने ही किया था। इसके बाद दिसंबर 2020 और जनवरी 2021 को मेंढर में ग्रेनेड के साथ पांच लोग पकड़े गए थे। इन्हें ग्रेनेड भी रफीक द्वारा ही मुहैया करवाए गए थे। इन्हें धार्मिक स्थलों को निशाना बनाने के लिए कहा गया था। ताकि क्षेत्र में आपसी भाईचारा खत्म हो सके। पिछले माह भी पुंछ के सुरनकोट व शहपुर से गजनवी फोर्स के तीन आतंकी ग्रेनेड व पिस्टल के साथ पकड़े गए थे। ये भी सुलतान के ही तैयार किए हुए आतंकी थे।

सुरक्षा एजेंसियों के रडार में कुछ लोग, रखी जा रही नजर : सूत्रों के अनुसार, सुलतान अपने कुछ साथियों से संपर्क कर भाटाधुलियां के जंगल में हो रही मुठभेड़ की पल-पल की जानकारी हासिल कर रहा है। यहां तक कि जंगल में किस समय गोलीबारी शुरू हुई और किस समय बंद हुई, यह भी उसे पता चल रहा है। सूत्रों के अनुसार, सुरक्षा एजेंसियों के रडार में कुछ लोग हैं, जिनपर पूरी नजर रखी जा रही है। जल्द इनकी धरपकड़ भी हो सकती है। 

Edited By: Rahul Sharma