जागरण संवाददाता, जम्मू : देश के मॉडल रेलवे स्टेशनों में शामिल जम्मू रेलवे स्टेशन आने वाले यात्रियों को अब हवाई अड्डे जैसा एहसास होगा। जम्मू रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण के कार्य को आगे बढ़ाते हुए इसके प्रवेश द्वार की दीवारों पर जम्मू की संस्कृति को दर्शाती पें¨टग लगेगी। इसके अलावा वहां पर पीवीसी पेंटिंग लगाई जा रही है। रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण के कार्य के चलते तीन दिनों तक एस्केलेटर को बंद रखा जाएगा। बाकायदा वहां नोटिस लगा कर यात्रियों को इस बाबत सूचित किया गया है।

माता वैष्णो देवी का आधार शिविर कहे जाने वाले जम्मू रेलवे स्टेशन में वर्ष भर यात्रियों का आना-जाना लगा रहता है। अमरनाथ यात्रा भी जम्मू से ही शुरू होती है। ऐसे में यात्रियों को राज्य की संस्कृति से अवगत करवाने और उन्हें बेहतर वातावरण देने के लिए रेलवे स्टेशन में वाल पें¨टग के अलावा बेहतर सजावट वाली पेंटिंग की जा रही है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन को स्वच्छ बनाए रखने के लिए दिन में तीन बार स्टेशन की सफाई करवाई जा रही है। इसके साथ ही समाज सेवी संगठनों की मदद से रेलवे स्टेशन परिसर में कूड़ेदान लगाने का कार्य भी किया जा रहा है।

हवाई अड्डे की तर्ज पर स्टेशन का विकास फिरोजपुर डिवीजन के डिवीजनल रेलवे मैनेजर विवेक कुमार ने बताया कि जम्मू रेलवे स्टेशन में आने वाले यात्रियों को हवाई अड्डे जैसी सुविधाएं देने की ओर काम किया जा रहा है। रेलवे स्टेशन को विकसित करने के लिए 180 करोड़ रुपये की राशि जारी हुई है। स्टेशन के सौंदर्यीकरण पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है।

सौंदयीकरण कार्य जारी रहने तक बंद रहेगा एस्केलेटर स्टेशन सुप¨रटेंडेंट राजेश सभ्रवाल का कहना है कि रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार वीआइपी गेट पर जारी सौंदर्यीकरण के काम के चलते प्लेटफार्म नंबर एक तक जाने वाले एस्केलेटर को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। गेट पर जारी निर्माण कार्य के चलते एस्केलेटर को चला पाना संभव नहीं है। इससे हालांकि कुछ समय के लिए यात्रियों को असुविधा होगी, लेकिन सौंदर्यीकरण के काम को अंजाम देना जरूरी है।