श्रीनगर, जेएनएन। कश्मीर में सामान्य होते हालात के बीच श्रीनगर के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) में छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है। यहां हाजरी 60 प्रतिशत से अधिक पहुंच गई है। वहीं संस्थान प्रबंधन ने भी छात्रों और शिक्षकों की उपस्थिति बेहतर होने पर गत सोमवार से कक्षाएं फिर से शुरू कर दी हैं। उनका कहना है कि यहां इंजीनियरिंग छात्रों की कुल संख्या 2892 के करीब है जिनमें से करीब 1802 ने कालेज में रिपोर्ट की है। अभी भी छात्रों का आना जारी है।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने और उसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से पहले ही संस्थान प्रबंधन ने 3 अगस्त को छात्रों को कालेज छोड़ घरों को लौटने के आदेश दे दिए थे। एसआरटीसी बसों की मदद से करीब 1500 के करीब छात्रों को श्रीनगर से जम्मू भेजा दिया गया था। अब दो महीने से अधिक समय बाद एनआइटी श्रीनगर 15 अक्टूबर को फिर से खुल गया है। शुरूआती दिनों में बाहरी राज्यों से यहां पढ़ने वालों की संख्या कम रही परंतु रविवार तक यह संख्या 60 प्रतिशत से अधिक पहुंच गई। यही वजह रही कि प्रबंधन ने पढ़ाई शुरू कर दी।

प्रबंधन के अनुसार संस्थान में पहुंचे छात्रों में 553 प्रथम वर्ष के छात्र, 399 द्वितीय वर्ष, 172 तृतीय वर्ष और 213 अंतिम वर्ष के छात्र बीटेक के हैं। पीएचडी और एमटेक कर रहे छात्रों की उपस्थिति अभी भी कम है। प्रबंधन के अनुसार पीएचडी कर रहे छात्रों की संख्या 358 के करीब है, अभी तक इनमें से 19 ही पहुंचे थे। इसी तरह एमटेक करने वाले विद्यार्थियों की संख्या 329 के करीब है, जिनमें से 73 उपस्थित थे।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप