जम्मू, जेएनएन : जम्मू-कठुआ राष्ट्रीय राजमार्ग पर सरोर क्षेत्र में आनन-फानन में टोल प्लाजा स्थापित करने का विरोध तेज हो गया है। ट्रांसपोर्टरों ने तीसरे दिन सरोर टोल प्लाजा के समक्ष धरना देकर राज्य प्रशासन और नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। ट्रांसपोर्टरों ने साफ तौर पर कह दिया है कि जब तक टोल प्लाजा को हटा नहीं दिया जाता तब तक जम्मू-कठुआ रूट पर बस सेवा बंद रहेगी। वहीं एनएच ने भी दो टूक शब्दों में कह दिया है कि अगर सड़के अच्छी चाहिए तो टोल देना होगा।

टोल के विरोध में लगातार तीसरे दिन भी जम्मू-कठुआ मार्ग पर बसों की आवाजाही थमी रही। कठुआ से जम्मू तक ट्रांसपोर्टर टोल प्लाजा को हटाने की मांग कर प्रदर्शन कर रहे हैं। करीब 400 से अधिक बसें व मिनी बसें रूट पर नहीं चलने से सरकारी मुलाजिम, विद्यार्थियों से लेकर स्थानीय लोग परेशान हैं।

कांग्रेस व पैंथर्स पार्टी ने भी टोल प्लाजा के विरोध में प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं। अभी तक तो टोल का विरोध कठुआ व सांबा तक सीमित था, लेकिन अब ऑल जेएंडके ट्रांसपोर्टर वेलफेयर एसोसिएशन ने भी जम्मू-कठुआ बस यूनियन व मिनी बस यूनियन की हड़ताल का समर्थन करते हुए सरकार को 24 घंटे का अल्टीमेटम जारी कर दिया है।

कल से पूरे संभाग में रहेगा चक्का जाम

एसोसिएशन के चेयरमैन टीएस वजीर ने स्पष्ट किया कि अगर आज उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो कल वीरवार से पूरे जम्मू संभाग में ट्रांसपोर्टर चक्का जाम कर देंगे। ट्रांसपोर्टरों की मांग को कुछ गैर राजनीतिक संगठनों का समर्थन मिल रहा है। एसोसिएशन ने जम्मू-कठुआ बस यूनियन व बड़ी ब्राह्मणा से विजयपुर, राया सुचानी मिनी बस यूनियंस का समर्थन किया। वजीर ने कहा कि इस तरह की तानाशाही किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मंगलवार को जम्मू की सबसे बड़ी थोक मंडी वेयर हाउस, नेहरू मार्केट ने भी टोल प्लाजा हटाने की मांग की। इसके अलावा जम्मू वेस्ट असेंबली मूवमेंट ने न्यू प्लॉट क्षेत्र में प्रदर्शन किया। कठुआ-जम्मू रूट पर दूसरे दिन भी निजी बसों के पहिये जाम रहे। जम्मू कठुआ, बिलावर, बसोहली, बनी की बस सेवा नहीं चलने से हजारों लोग भटकते रहे। सरकारी मुलाजिम, विद्यार्थी और प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले अधिक परेशान रहे। कई लोगों ने अंतरराज्यीय बस सेवाओं का सहारा मिला। जम्मू से भी बिलावर के लिए कोई भी बस नहीं चली। बाड़ी ब्राह्मणा, विजयपुर और सांबा के चालकों ने भी वाहन सड़कों पर नहीं उतारे हैं। इन दिनों शादी-विवाह के सीजन में बसों की हड़ताल से कई दिक्कतें हो रही हैं।

बिना टोल टैक्स दिए बात नहीं बनेगी: एनएचएआई

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अजय कुमार ने टोल प्लाजा को लेकर चल रहे विवाद पर दो टूक कहा कि बिना टोल टैक्स दिए बात नहीं बनेगी। सभी टोल देंगे तभी अच्छी सड़कें मिलेंगी। अथॉरिटी ने सफाई दी कि 11 अक्टूबर को पहले दिन जम्मू-पठानकोट हाइवे पर लोग टैक्स देने को तैयार नहीं थे। इसी कारण स्थिति तनावपूर्ण बनी। किसी एक की गलती से हालात बिगड़े। इसके लिए सारी व्यवस्था को गलत करार नहीं दिया जा सकता। दोषियों के खिलाफ नियमों के तहत कार्रवाई होगी। टोल प्लाजा पर हाथ से चलने वाली मशीनें हैं। इससे टोल कटाने में मुश्किल नहीं हो रही। बसों, ट्रकों, कारों व वीआइपी वाहनों के लिए अलग लेन हैं। हम मासिक पास दे रहे हैं। उन्होंने निर्धारित किलोमीटर के बाद टोल वसूलने के नियमों पर सफाई दी। कहा कि ठंडी खुई में 47 किलोमीटर सड़क के लिए टोल वसूला जा रहा है, जबकि बन टोल प्लाजा में 64 किलोमीटर के लिए टोल लिया जाता है।

11 अक्टूबर से ठंडी खुई में नए टोल ने काम करना शुरू किया था। कुछ दिन स्थिति बिगड़ी थी, लेकिन अब पांच दिन में सामान्य हो गई। रात 8.30 से 11.30 बजे तक कुछ जाम रहता है। इसके लिए हम कुछ दिन में दो और लेन तैयार करेंगे। इसके बाद समस्या नहीं रहेगी। प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने कहा कि हाइवे की हालत सुधारने के प्रयास अब सार्थक होंगे। पहले टोल शुरू नहीं होने के चलते अन्य प्रोजेक्ट्स को मंजूरी नहीं मिल रही थी। हाइवे ठीक करने के अलावा कुंजवानी, ग्रेटर कैलाश में हाइवे का प्रोजेक्ट तैयार करेंगे। ग्रेटर कैलाश प्वाइंट चौड़ा किया जाएगा। कई जगह पुली का निर्माण होगा। आने वाले महीने में जम्मूवासियों को परिवर्तन दिखेगा। वर्ष 2012 में हाइवे-44 तैयार हुआ था। तब यहां टोल बनाने की तैयारी की गई थी, लेकिन विरोध के कारण टल गया। अब सात वर्ष बाद टोल शुरू हुआ है। लोग सहयोग करें। 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप