जम्मू, राज्य ब्यूरो। नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने साेमवार को एक बड़े जनांदोलन की चेतावनी देते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को भंग कर , भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर के भारत विलय की बुनियाद पर ही सवाल खड़ा कर दिए हैं। यह इकतरफा, अवैध,असंवैधानिक फैसला है,जिसका नेशनल कांफ्रेंस पुरजोर विरोध करेगी।

बीती रात से अपने घर में नजरबंद नैकां उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को भंग किए जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि वर्ष 1947 में विलय के समय जम्मू कश्मीर के लोगों ने भारत मेंजो अास्था और विश्वास जताया था, आज उसी विश्वास को भारत सरकार ने समाप्त कर दिया है।

केंद्र के इन फैसलों के दूरगामी और खतरनाक परिणाम सामने आएंगे। यह जम्मू कश्मीर के लोगों के प्रति आक्रमण है और हमने गत रोज हुई सर्वदलीय बैठक में इसकी चेतावनी भी दी थी।

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि हम जिस भयानक स्थिति का बीते एक सप्ताह से लगातार डर जता रहे थे, वह आज सही साबित हो गई। भारत सरकार आैर जम्मू कश्मीर में भारत सरकार के प्रतिनिधियों ने हमसे झूठ बोला है। यह घोषण पूरी रियासत को एक बड़ी सैन्य छावनी में बदलने के बाद की गई है। हम जैसे लोग जिन्होंने जम्मू कश्मीर के लाेगों को एक लोकतांत्रिक आवाज दी है, घरों में नजरबंद रखा गया है। सड़कों पर लाखों की तादाद में सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह फैसला जम्मू कश्मीर के लोगों के खिलाफ है आैर इसका जोरदार विरोध किया जाएगा।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप