जम्मू, जागरण संवाददाता। देश के विभिन्न हिस्सों से मालगाड़ी के जरिए लाए जाने वाले सीमेंट, खाद्य पदार्थ, पत्थर व अन्य सामान अब जम्मू रेलवे स्टेशन नहीं पहुंचेगा। रेल प्रबंधन ने जम्मू रेलवे स्टेशन में बने गुड्स साइडिंग (गोदाम) को बंद करने का फैसला लिया है। मालगाड़ी अब बड़ी ब्राह्मणा में बने नए गुड्स साइडिंग में सामान को अन लोड करेगी। यह फैसला फिरोजपुर डिवीजन के डिवीजनल रेलवे मैनेजर (डीआरएम) राजेश अग्रवाल ने रेल अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान लिया। बैठक में कंस्ट्रक्शन विभाग और ओवन लाइन (इंजीनिरिंग विभाग) के अधिकारी भी मौजूद रहे।

जम्मू रेलवे स्टेशन में विकास कार्यों की समीक्षा के लिए जम्मू पहुंचे डीआरएम ने कंस्ट्रक्शन विभाग के अधिकारियों को जम्मू रेलवे स्टेशन में सिकलाइन के नजदीक बने गुड्स साइडिंग को तोड़ कर वहां नए प्लेटफार्म बनाए जाने को कहा। प्लेटफार्म के निर्माण से पूर्व वहां की रेल पटरियों को शिफ्ट करना होगा। जब तक वहां मालगाड़ियों का आना बंद नहीं होता, तब तक निर्माण शुरू नहीं हो सकता। बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि सिकलाइन को हटा कर सलाल साइडिंग नरवाल सब्जी मंडी के नजदीक बनाया जाएगा। सिकलाइन में डिवीजनल मैकेनिकल इंजीनियर का कार्यालय है।

सिकलाइन में रेलगाड़ियों के इंजन की मरम्मत होती है। इसे भी सलाल साइडिंग में शिफ्ट किया जाएगा। डीआरएम ने बताया कि जम्मू रेलवे स्टेशन में दूसरी एंट्री बनाने के लिए 188 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं। डीआरएम बड़ी ब्राह्मणा में बने गुड्स गोदाम भी देखने गए, जहां अब माल को रखा जाना है। काबिलेगौर है मालगाड़ी से सामान उतरने के छह घंटे के भीतर ही ठेकेदार को गुड्स गोदाम से अपना सामान उठाना होता है।

वाशिंग लाइन का होगा विस्तार

रेलवे स्टेशन में छह नए प्लेटफार्म बनने के साथ रेलगाड़ियों की आवाजाही और बढ़ जाएगी। ऐसे में रेलगाड़ियों की साफ-सफाई के लिए वाशिंग लाइन में गाड़ियों का दबाव बढ़ जाएगा। इस दबाव से निपटने के लिए जम्मू रेलवे स्टेशन में बनी वाशिंग लाइन का विस्तार होगा। मौजूदा समय में वाशिंग लाइन में तीन लाइन हैं। अब वहां लाइन बढ़ाकर उसकी संख्या छह तक की जाएगी।

भूमिगत टनल से जुड़ेगी नई और पुरानी एंट्री

जम्मू रेलवे स्टेशन के विस्तार के साथ रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने के लिए नरवाल की ओर से रेलवे ओवरहेड ब्रिज के पास नई एंट्री बनाई जा रही है। रेलवे के इस हिस्से में नए प्लेटफार्म का निर्माण किया जाएगा। मौजूदा और नए प्लेटफार्म को आपस में मिलाने के लिए भूमिगत टनल बनाई जाएगी, जिसमें से यात्री नई एंट्री से पुराने प्लेटफार्म तक पहुंच पाएंगे।

वंदे भारत चलाने को लेकर दिए निर्देश

हाईस्पीड स्वदेशी रेलगाड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस के शुरू होने में अब कुछ ही दिन बचे हैं। ऐसे में इस रेलगाड़ी को स्थायी तौर पर दिल्ली से कटड़ा के बीच चलाने के लिए डीआरएम राजेश अग्रवाल ने अधिकारियों को तैयारियां पूरी करने को कहा। उन्होंने वंदे भारत के चलते के दौरान रेलवे ट्रैक को खाली रखने को कहा ताकि इस हाई स्पीड रेलगाड़ी के संचालन में किसी प्रकार की दिक्कत पेश न आए। जम्मू से कटड़ा के बीच रेलगाड़ी की स्पीड को बढ़ाने पर भी चर्चा की गई। वहीं, इस रेलगाड़ी की सुरक्षा पुख्ता बनाने को लेकर भी डीएसआर ने जरूरी दिशा निर्देश दिए।

मीडिया से बनाए रखी दूरी

विकास कार्यों का जायजा लेने जम्मू पहुंचे डीआरएम राजेश अग्रवाल ने अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान मीडिया से दूरी बनाए रखी। जम्मू रेल प्रबंधन ने भी मीडिया कर्मियों को डीआरएम के दौरे के बारे में जानकारी नहीं दी।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप