जम्मू, राज्य ब्यूरो  : अमरनाथ यात्रा संपन्न होने के बाद पहलगाम और बालटाल मार्गों में साफ-सफाई का अभियान अंतिम चरण में है। यात्रा समाप्त होने से करीब एक सप्ताह पहले ही साफ सफाई शुरू कर दी थी। सभी शिविरों व यात्रा मार्गों पर कचरा उठाने काम समाप्त होने वाला है। साथ ही कचरे का निस्तारण होगा। किसी भी तरह के कचरे को धरती में नहीं जाने दिया जाएगा। पूरे क्षेत्र में वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए सफाई की जाती है।

प्लास्टिक कचरे को मशीनों से री-साइकिल किया जाएगा। दूसरे कचरे का निस्तारण कर खाद बनाई जाएगी। वह खाद किसानों को दी जाएगी। आरडीडी के साथ स्टार्टअप स्वाहा के वालंटियर भी जुटे हैं। यात्रा के संपन्न होने के साथ ही साफ जून से शुरू हुई थी जो 44 दिन तक चल कर 12 अगस्त को संपन्न हुई।

800 टन कचरा निकलने का अनुमान : कचरे के निस्तारण के लिए जिला प्रशासन गांदरबल, अनंतनाग की तरफ से विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यात्रा के संपन्न होते ही लंगर वाले सामान समेट कर वापिस जा रहे हैं। अधिकतर लंगर वाले कुछ दिन पहले ही अपने राज्यों को लौट गए हैं। प्रतिवर्ष अमरनाथ यात्रा में 500 टन कचरा निकलता रहा है। इस बार करीब 800 टन कचरा निकलने का अनुमान है। 

सिंगल यूज प्लास्टिक जब्त, वसूला जुर्माना : जम्मू नगर निगम की हेल्थ विंग के अधिकारियों ने शहर के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर वहां से 35 किलो सिंगल यूज प्लास्टिक को जब्त किया। जिन लोगों ने सिंगल यूज प्लास्टिक बरामद हुआ से पुलिस कर्मियों ने 27 हजार रुपये का जुर्माना वसूला गया। प्रशासन ने सिंगल यूज प्लास्टिक को पर्यावरण के लिए बढ़ा खतरा बताते हुए उस पर प्रतिबंध लगा दिया है। ऐसे में नगर निगम यह सुनिश्चित कर रहा है कि कोई भी प्रतिबंध के बावजूद इसका प्रयोग ना करते। शनिवार को नगर निगम की विभिन्न टीमों ने गोविंद नगर, तालाब तिल्लो, मुट्ठी गाड़ीगढ़ में दबिश देकर वहां से करीब 35 किलो सिंगल यूज प्लास्टिक को जब्त किया। जिन लोगों से प्लास्टिक बरामद हुआ से पुलिस ने मौके पर ही जुर्माना वसूल लिया। नगर अधिकारियों का कहना है कि आने वाले दिनों से उनका यह अभियान इसी प्रकार जारी रहेगा।

Edited By: Rahul Sharma