जम्मू, राज्य ब्यूरो। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की विशेष अदालत ने एक बार फिर निलंबित डीएसपी देविंदर सिंह व उनके आतंकी साथियों की न्यायिक हिरासत की अवधि आैर 15 दिन बढ़ा दी है। अलबत्ता, अदालत में सिर्फ देविंदर को ही पेश किया गया। निलंबित डीएसपी संग पकड़े गए आतंकी व उसके अन्य साथियों ने कोट भलवाल जेल से वीडियो कांफ्रेंस से अदालत में उपस्थिति दर्ज कराते हुए सुनवाई में हिस्सा लिया।

एनआइए ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच देविंदर को अदालत में पेश किया। उसे हीरानगर जेल से लाया था। हिज्ब कमांडर नवीद मुश्ताक, आरिफ, इरफान व सईद इरफान ने सेंट्रल जेल कोट भलवाल से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए अदालत की कार्रवाई में हिस्सा लिया। एनआइए विशेष अदालत के जज एससी गुप्ता ने एनआइए के मुख्य जांच अधिकारी द्वारा अदालत मे पेश किए तथ्यों व दस्तावेजों का संज्ञान लेते हुए कहा कि यह मामला अत्यंत संवेदनशील है। आरोपितों को न्यायिक हिरासत में रखे जाने का एनआइए का आग्रह तर्कसंगत और न्यायोचित्त है। सभी को 15 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा जाता है। इसके साथ जेल प्रशासन को निर्देश दिया जाता है कि वह जेल मैन्युल के अनुरूप सभी आरोपितों का रिमांड की अवधि के दौरान आवश्यकतानुरूप स्वास्थ्य जांच कराए।

क्या था मामलाः  देविंदर को 11 जनवरी 2019 को पुलिस ने ही श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर पकड़ा था। कार में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी नवीद, आरिफ व लश्कर का ओवरग्राउंड वर्कर इरफान सवार थे। दे¨वदर तीनों को कश्मीर से बाहर लेने की फिराक में था। पुलिस ने उसके भाई सईद को 23 जनवरी गिरफ्तार किया। शुरुआत में मामले की जांच पुलिस कर रही थी, लेकिन गृहमंत्रलय के निर्देशानुसार एनआइए ने 17 जनवरी को जांच का जिम्मा संभाला।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस