जम्मू, जागरण संवाददाता : नेशनल कांफ्रेंस के प्रांतीय अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह राणा ने जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग करते हुए कहा कि इसी से स्थायी निवासियों को भूमि और नौकरियों के अधिकारों की गारंटी संभव है। उन्होंने कहा कि जल्द राज्य का दर्जा बहाल करने का वादा किया जाना चाहिए।

नेशनल कांफ्रेंस के संभागीय अध्यक्ष देवेंद्र सिंह राणा ने नेकां के राजौरी क्षेत्र की नेकां पदाधिकारियों की बैठक में एजाज जान,प्रांतीय अध्यक्ष महिला विंग सतवंत कौर डोगरा, प्रांतीय सचिवशेख बशीर अहमद, डीडीसी अध्यक्ष राजौरी चौ नसीम लियाकत भी पांच घंटे तक चली वर्चुअल मीटिंग में हिस्सा लिया। जिसमें पार्टी पर चर्चा हुई, साथ ही आम जनता की समस्याओं पर भी बात हुई। राणा ने कहा कि जमीनी स्तर पर नेकां की मजबूती से ही सभी समस्याओं का समाधान संभव है।राणा ने निकट भविष्य में एक बड़ी भूमिका के लिए तैयार रहने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि लोगों को नेशनल कांफ्रेंस से ज्यादा उम्मीदें हैं। राणा ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस एक कैडर आधारित प्रमुख पार्टी है। जिसने हाल ही में जिले के चुनावों के दौरान अपनी ताकत का प्रदर्शन किया है। राजनीतिक स्थिति प्राप्त करने का जिक्र करते हुए प्रांतीयअध्यक्ष ने कहा कि चुनौतियां कई गुना हैं और लोगों के लिए बेहतर जीवन की तलाश के लिए सक्रिय प्रतिक्रिया होनी चाहिए।निर्णय लेने में उनकी भूमिका, जो लोकतंत्र का सार है, में ऐसा तंत्र, युवा और बूढ़े हर वर्ग की जिम्मेदारी बन जाती है।

इसी विचार के साथ नेशनल कांफ्रेंस नेहमेशा युवा नेताओं और महिलाओं को आगे बढ़ने और नेतृत्व करने के लिए एक मंच प्रदान किया। उन्होंने दूरदराज क्षेत्रों में कैडर तक पहुंचकर सदस्यता अभियान तेज करने पर बल दिया। वर्चुअल बैठक में बोलने वालों में विपन पाल शर्मा, बशीर अहमद वानी, जिलाध्यक्ष राजौरी ग्रामीण भूषण उप्पल,जिलाध्यक्ष राजौरी शहरी शफायत खान, मंजूर मलिक, मोहम्मद असलमखान, यशुवर्धन सिंह, शफकत मीर आदि शामिल थे। 

Edited By: Vikas Abrol