जम्मू, राज्य ब्यूरो : देश भर में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी शृंखला में केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के दिशा निर्देशों के तहत, आयुष विभाग जम्मू कश्मीर ने भी कई कार्यक्रमों का आयोजन किया। आयुष निदेशक जम्मू कश्मीर डॉ. मोहन सिंह के निर्देशन और मेडिकल सुपरिन्टेंडेंट डॉ. वंदना डोगरा, डिप्टी मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. अरुणा भट्ट के कहने पर द्वारा भारतीय योग संस्थान की जम्मू कश्मीर इकाई के साथ एक मुफ़्त चिकित्सा शिविर का आयोजन किया।

शिविर का प्रारंभ जागरूकता अभियान से हुआ। राजकीय आयुर्वेद अस्पताल से आई एक्सपर्ट टीम के सदस्यों के लेक्चर से हुआ। प्रसूति तंत्र स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. अरुण गुप्ता ने आयुष की विभिन्न चिकित्सा विकल्पों से योग विशेषज्ञों को अवगत कराया। राजकीय आयुर्वेद अस्पताल में चिकित्सा सेवाओं पंचकर्म, क्षारसूत्र, गर्भसंस्कार, मातृ शिशु कल्याण, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के विषय में जानकारी दी और बताया कि आज के स्वास्थ्य संदर्भं में किस प्रकार यह विधियां कारगर सिद्ध हो रही हैं। डॉ. बिपन चंद्र, आयुर्वेद विशेषज्ञ ने आहार, विहार और विचार से रोग प्रतिकारक क्षमता बढ़ाने में योग और आयुर्वेद के महत्व को उजागर किया। लेक्चर के बाद चिकित्सा शिवीर में डॉक्टरों की टीम ने करीब 168 लोगों की जांच की। टीम में डॉ. अरुण गुप्ता, डॉ. बिपन चंद्र और डॉ. निधि योग चिकित्सक शामिल थे। रोगियों को मुफ़्त आयुष दवाईयां भी दी गई ।

जिन रोगियों को विशेष चिकित्सा की आवश्यकता थी उन्हे आयुर्वेद अस्पताल में रेफर किया गया। सभी योग विशेषज्ञों ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए आयुष विभाग का धन्यवाद व्यक्त किया और संस्था के प्रांत प्रधान सतपाल शर्मा, उपप्रधान सुरेश गुप्ता और सेक्रेटरी जिया लाल ने भविष्य में भी योग उद्यमियों और जन साधारण के लिए ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करने के लिए विभाग से आग्रह किया।