जम्मू, राज्य ब्यूरो: उपराज्यपाल के प्रमुख सचिव नितिश्नर कुमार ने शुक्रवार को एक उच्च स्तरीय बैठक विभिन्न विकास परियोजनाओं और विभागों के डिजिटल पहल की समीक्षा की। बैठक में विभिन्न जिलों के डिप्टी कमिश्नरों ने अपने जिलों में डिजिटल पहलों के बारे में जानकारी दी।

बैठक में बताया गया कि जम्मू संभाग में अगले सप्ताह होशियार और मददगार एप को शुरू किया जा सकता है। दोनों कठुआ जिले की है। वहीं रामबन जिले की ई दरबार एप को अगले सप्ताह से पायलट आधार पर शुरू किया जाएगा। रियासी जिले की प्रोजेक्ट इंसानियत की मोबाइल एप भी अगले वीरवार तक आ जाएगी। सांबा जिले की ई समाधान एप भी जल्दी लांच होगी।

कश्मीर संभाग में बडगाम जिले की इतलाह उप गुगुल प्ले स्टोर में पहले से ही समीक्षा पर है। यह किसी भी समय लांच हो सकती है। डिप्टी कमिश्नर बडगाम ने बताया कि इमदाद एप भी लनगभग तैयार है। कुलगाम की आपदा प्रबंधन एप भी तैयार है। अन्य जिलों के प्रोजेक्ट भी लगभग तैयार हैं। एक बार शुरू होने के बाद इन सभी एप का सोशल मीडिया पर प्रचार किया जाएगा। बैठक में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत पर भी चर्चा हुई।

सीईओ हेल्थ एजेंसी चौधरी यासीन ने अभी तक इस योजना के तहत पंजीकृत हुए लोगों के बारे में जानकारी दी।उन्होंने बताया कि रियासी और कुलगाम जिलों में सबसे अणिक लोगों का पंजीकरण हुआ है। ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग की सचिव शतल नंदा ने कहा कि बैक टू विलेज कार्यकक्रम के तहत कामों को पूरा करने के लिए फंड जारी कर दिया गया है। अन्य विभागों के प्रशासनिक सचिवों ने भी अपने विचार रखे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप