जागरण संवाददाता, जम्मू : रामगढ़ के मंगलामुखियों के एक गुट पर अपने कुछ साथियों के लिंग काटने का आरोप लगाते हुए मंगलामुखियों ने एक सप्ताह में दूसरी बार आत्मदाह करने की कोशिश की, हालांकि पुलिस ने उनको ऐसा करने से रोक लिया। इससे पहले उन्होंने राजभवन के पास आत्मदाह करने की कोशिश की थी।

जानकारी के मुताबिक, पिछले करीब एक माह से अपने विरोधी गुट के खिलाफ पुलिस से कार्रवाई करने की माग पर मंगलामुखी कई बार प्रदर्शन कर चुके हैं। वीरवार की रात करीब आठ बजे बाग-ए-बाहु थानातर्गत राजीव नगर में नरवाल चौक पर उन्होंने यातायात अवरुद्ध कर पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच उन्होंने आत्मदाह करने के लिए गोल घेरे में खड़े हो गए और बीच में आग जला दी।

उनका कहना था कि विरोधी गुट ने उनके कुछ साथियों का अपहरण कर उनके लिंग काट दिए थे, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। ऐसे में वे आत्मदाह करने पर मजबूर हुए हैं। वे जब अपने कपड़ों में आग लगाने जा रहे थे, तभी वहां पहुंचने पुलिसकर्मियों ने उनको ऐसा नहीं करने के लिए समझाया।

इस पर मंगलामुखी शांत हुए। मंगलामुखी रुबीना ने कहा कि इस बार वे पुलिस के समझाने पर आत्मदाह नहीं कर रहे हैं, लेकिन यदि पुलिस ने जल्द आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया तो वे अब रोजाना शहर के किसी न किसी हिस्से में प्रदर्शन करेंगे।

उन्होंने कहा कि उनके कुछ साथियों के लिंग काट दिए गए, इसके बाद भी पुलिस कुछ नहीं कर रही है। ऐसे में अब वे क्या करें, किससे अपनी फरियाद करें। उपराज्यपाल से भी उन्होंने मिलना चाहा, लेकिन पुलिस ने मिलने नहीं दिया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021