जम्मू, जेएनएन। अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा आतंकवादी घटनाओं में वृद्धि लाने की अफवाहों के बीच त्रिकुटा नगर में उस समय सनसनी फैल गई जब स्थानीय लोगों की शिकायत पर सुरक्षाबलों ने सैन्य शिविर के बाहर संदिग्ध परिस्थितियों में सेना की सर्दी पहने 33 वर्षीय युवक को हिरासत में लिया। लोगों का कहना था कि ये युवक काफी समय से कैंप के आसपास चक्कर लगा रहा था और ऐसा लगा रहा था कि वह किसी तरह कैंप में घूसना चाहता है।

भारतीय एजेंसियों को भी लगातार यह सूचनाएं मिल रही हैं कि जैश-ए-मुहम्मद ने जम्मू-कश्मीर में सैन्य शिविरों व वायु सेना के खेमों में हमला बोलने के लिए 60 अफगानी लड़ाकों की भर्ती की है। इन सूचनाओं के बाद जम्मू-कश्मीर में अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस सहित सीआरपीएफ, बीएसएफ व सेना को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। यही वजह है कि जहां-जहां से भी सूचनाएं मिल रही हैं, उसे गंभीरता से लेते हुए सुरक्षाकर्मी सुरक्षा व्यवस्था को यकीनी बनाने के लिए तलाशी अभियान भी चला रहे हैं।

यही वजह रही कि लोगों द्वारा सूचित किए जाने के बाद सेना के जवानों ने तुरंत संदिग्ध अवस्था में शिविर के आसपास घूम रहे युवक को हिरासत में ले लिया है। लोगों का कहना था कि वह काफी समय से सैन्य कैंप के आसपास घूम रहा था। युवक की पहचान 33 वर्षीय कुदीप कुमार निवासी ऊधमपुर के रूप में हुई है। सेना के जवानों का कहना है कि युवक नशे की हालत में था। उसे कुछ होश नहीं थी। सेना ने उसे बाद में गंग्याल पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस ने युवक से मिली जानकारी के आधार पर उसके परिजनों से संपर्क किया। परिजनों ने बताया कि कुलदीप काफी समय से नशा कर रहा है। वह उसे रोकते हैं परंतु वह नशे की लत को पूरा करने के लिए अकसर घर से भाग जाता है। पुलिस ने भी जांच में परिजनों की बात को सही पाते हुए युवक को उन्हें सौंप दिया।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप