जम्मू, राज्य ब्यूरो: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सभी जिला उपायुक्तों, एसपी और अन्य अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस से बैठक कर कोविड के हालात की समीक्षा की। जिला वार समीक्षा करते हुए उपराज्यपाल ने लगातार कम हो रही संक्रमण दर का जिक्र करते हुए कहा कि कंटेनमेंट जोन पालिसी को इसी तरह से जारी रखा जाए ताकि संक्रमण दर को इसी तरह से कम किया जा सके।

उपराज्यपाल ने कहा कि संक्रमण दर बेशक कम हो रही है लेकिन अभी हम लापरवाही नहीं बरत सकते हैं। सभी जिलों को कंटेनमेंट जोन नीति को सख्ती के साथ लागू करना होगा। यही नहीं संपर्क में आने वाले लोगों का भी पता लगाया जाना चाहिए। उन्होंने टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाने के लिए डाक्टरों ओर स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा गैर सरकारी संगठनों और धार्मिक संगठनों का भी सहयोग लेने की जरूरत है। उन्होंने लोगों से कोविड से बचाव के लिए एसओपी का सख्ती के साथ पालन करने को कहा। प्रशासन और पुलिस को भी लोगों को शारीरिक दूरी को बनाए रखने, मास्क पहनने और टेस्ट पहले की तरह जारी रखने के लिए काम करने को कहा। उन्हें संयुक्त टीमें गठित कर बाजार में पहुंचना होगा। उन्होंने पंचायतों में कोविड केयर सेंटरों का प्रभावी तरीके से इस्तेमाल करने को कहा। उन्होंने कोविड को हराने के लिए कोविड प्रोटोकाल का पालन करने को कहा।

अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा अटल ढुल्लू ने ने उपराज्यपाल को जिला वार कोविड के हालात, साप्तािक नए मामले, संक्रमण दर, टीकाकरण के बारे में जानकारी दी। यह बताया गया कि जम्मू-कश्मीर में ठीक होने की दर 95.2 फीसद हो गई है। संक्रमण दर अब सिर्फ 1.3 फीसद है। इसी तरह नौ जिलों बांडीपोरा, गांदरबल, शोपियां, जम्मू, सांबा, कठुआ, रियासी, ऊधमपुर ओर किश्तवाड़ अब ग्रीन केटागिरी में हैं। उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर, मुख्ण्य सचिव डा. अरुण कुमार मेहता, पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह, गृह विभाग के प्रमुख सचिव शालीन काबरा सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Rahul Sharma