Move to Jagran APP

J&K Bijli Chori: घाटी में बिजली चोरों पर KPDCL का एक्शन! बिल न भरने वालों पर कसा शिकंजा, 43 करोड़ वसूला बकाया

कश्मीर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (केपीडीसीएल) ने घाटी में मुफ्त बिजली फूंक रहे लोगों पर शिकंजा कसा। विभाग ने नियमित राजस्व वसूली की अदायगी न करने वाले उपभोक्ताओं से 43 करोड़ रुपये का वकाया वसूल किया है। ऐसे में केपीडीसीएल ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बिजली बकाए का भुगतान न करने पर कई हजार उपभोक्ताओं के कनेक्शन भी काट दिए।

By rahul sharma Edited By: Shoyeb Ahmed Tue, 09 Jul 2024 11:10 PM (IST)
J&K Bijli Chori: घाटी में बिजली चोरों पर KPDCL का एक्शन! बिल न भरने वालों पर कसा शिकंजा, 43 करोड़ वसूला बकाया
बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं से बकाए के वसूले करोड़ो रुपये

जागरण संवाददाता, जम्मू। कश्मीर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (KPDCL) ने घाटी में मुफ्त बिजली फूंक रहे, नियमित राजस्व वसूली की अदायगी न करने वाले उपभोक्ताओं के खिलाफ अपना शिकंजा और कस दिया है।

पिछले तीन महीनों की ही बात करें तो केपीडीसीएल ने इस अवधि के दौरान 13719 नए कनेक्शनों को जोड़, संभाग के कुल लोड में 7.5 मेगावाट बढ़ाया है। इसी के साथ कश्मीर संभाग में बिजली उपभोक्ताओं की संख्या 9.94 लाख के करीब हो गई है।

जोड़े गए इतने कनेक्शन

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कुलगाम में 1949, बडगाम में 1630, सोपोर में 1269, अनंतनाग में 982, तंगमर्ग में 935, गंदेरबल में 843, शोपियां में 812, अवंतीपोरा में 747 और बिजबेहड़ा इलेक्ट्रिक डिवीजन में 611 नए कनेक्शन जोड़े गए हैं।

यही नहीं केपीडीसीएल से मिली जानकारी के अनुसार चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान बिजली के लंबित बकाए का भुगतान न करने पर 11,450 उपभोक्ताओं के कनेक्शन काट दिए हैं।

इसमें 8,655 घरेलू, 2,697 कमर्शियल, 94 होटल व्यवसायी और 34 औद्योगिक इकाइयां शामिल हैं। इसी अवधि के दौरान बकायदार उपभोक्ताओं से 43.26 करोड़ रुपये का बकाया भी वसूल किया गया है।

एफआइआर दर्ज कराने के लिए 600 आवेदन दायर

केडीपीसीएल ने स्मार्ट मीटरों से छेड़छाड़ के खिलाफ भी कार्रवाई तेज कर दी है। स्मार्ट मीटरों से छेड़छाड़ और हुकिंग जैसी अन्य चोरी के लिए एफआइआर दर्ज करने के लिए लगभग 600 आवेदन दायर किए गए हैं।

उपभोक्ताओं द्वारा बिजली के अनाधिकृत उपयोग पर चिंता व्यक्त करते हुए केपीडीसीएल के प्रवक्ता ने कहा कि गर्मी के चरम महीनों में भी कश्मीर घाटी के कुछ हिस्सों से ट्रांसफार्मरों को नुकसान पहुंचा हैं।

केपीडीसीएल गंभीर कार्रवाई से बचने के लिए एक बार फिर अपने उपभोक्ताओं को हीटर और बॉयलर जैसे कच्चे हीटिंग गैजेट्स का उपयोग न करने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि इन उपकरणों के इस्तेमाल पर सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है।

ग्रामीण इलाकों में भी रखी जा रही कड़ी नजर

केपीडीसीएल के प्रवक्ता ने कहा कि शहरी क्षेत्रों के अलावा ग्रामीण इलाकों में भी मीटरों को बाइपास कर या फिर कुंडी डाल बिजली चोरी करने वालों पर नजर रखी जा रही है।

इसके अलावा स्वीकृत लोड से अधिक बिजली चोरी की घटनाओं पर नकेल कसने के लिए सब डिवीजन स्तर पर दैनिक आधार पर जांच अभियान चलाए जा रहे हैं।

इसके अलावा जो उपभोक्ता बकाया बिल की अदायगी नहीं करते उनके खिलाफ डिमांड रिट जारी करने और नामित न्यायालयों में जुर्माना लगाने के लिए मामले पेश करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। अब किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

ये भी पढ़ें-

दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज पर ट्रेन का सफल हुआ ट्रायल! कश्मीर तक रेलगाड़ी के जरिए इस दिन से शुरू होगी यात्रा

जम्मू-कश्मीर में बड़ा सड़क हादसा, किश्तवाड़ में दुर्घटनाग्रस्त हुई मारुति कार; चार की मौत