श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : श्री अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा 2022 के लिए सुरक्षित, शांत और विश्वासपूर्ण वातावरण उपलब्ध कराने के लिए एसएसपी श्रीनगर और बडगाम-श्रीनगर-गांदरबल रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक (DIG) को सीआरपीएफ महानिदेशक प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया गया है। जम्मू कश्मीर पुलिस के 10 अधिकारियों व जवानों को यह सम्मान प्रदान किया गया है।

समुद्रतल से करीब 3888 मीटर की ऊंचाई पर स्थित श्री अमरेश्वर धाम की तीर्थयात्रा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं को लश्कर ए तैयबा के हिट स्क्वाड द रजिस्टेंस फ्रंट टीआरएफ और अन्य आतंकी संगठनों ने निशाना बनाने की धमकी दी थी। आतंकियों की धमकियों के बीच तीर्थयात्रा को सुरक्षाबलों ने सुरक्षित और शांत तरीके से संपन्न कराया। किसी भी जगह आतंकी सुरक्षा तंत्र में सेंध लगा श्रद्धालुओं को नुक्सान पहुंचाने में पूरी तरह असमर्थ रहे। इस दौरान सुरक्षाबलों ने अपने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते करीब दो दर्जन आतंकियों को विभिन्न मुठभेड़ों में मार गिराया।

सीआरपीएफ ने श्री अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा 2022 को पूरी तरह सुरक्षित बनाने में जम्मू कश्मीर पुलिस की उल्लेखनीय भूमिका के मद्देनजर जम्मू कश्मीर पुलिस के 10 अधिकारियों व जवानों को महानिदेशक प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया है। इनमें डीआइजी सुजीत कुमार, एसएसपी श्रीनगर राकेश बलवाल, एसएसपी पीसीआर कश्मीर जुबैर खान, एसएसपी अवंतीपोर माेहम्मद युसुफ, एसएसपी अनंतनाग आशीष मिश्रा, एसएसपी कुलगाम जीवी संदीप चक्रवर्ती, एसपी मुख्यालय श्रीनगर आरिफ अमीन शाह, डीएसपी पीसीआर कश्मीर मुश्ताक अहमद व फारुक हुसैन और हैड कांस्टेबल शमीम अहमद शामिल हैं।

बता दें कि इस वर्ष अमरनाथ यात्रा में खलल डालने के लिए आतंकी संगठनों ने पूरी कोशिश की थी। पुलिस और सुरक्षा बलों के सामने शांतिपूर्ण यात्रा संपन्न कराना बड़ी चुनौती थी। दो साल कोरोना के कारण यात्रा नहीं होने के कारण इस बार अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद भी थी। ऐसे में सुरक्षित यात्रा संपन्न होना बड़ी बात रही।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra