जम्मू, जागरण संवाददाता : महिलाओं के सबसे बड़े त्योहार करवाचाैथ में अब मात्र एक सप्ताह शेष रह गया है और करवाचौथ पर महिलाओं के सोलह शृंगार को पूरा करने के लिए जम्मू शहर के बाजार सज कर तैयार है। कोरोना महामारी के कारण दो साल तक बाजारों में त्योहारों की खरीदारी पर जो साया मंडरा रहा था, वो इस बार पूरी तरह से छंट चुका है और इस बार करवाचौथ पर जमकर खरीदारी होने की उम्मीद है।

बाजार के विशेषज्ञों की माने तो इस एक सप्ताह में जम्मू शहर व आसपास के क्षेत्रों में करवाचौथ की 200 करोड़ रुपये से अधिक की बिक्री होगी और सबसे ज्यादा बिक्री स्वर्ण बाजार व कपड़ा बाजार में देखी जाएगी। इस बार करवाचौथ पर बंपर बिक्री की उम्मीद में व्यापारियों में भी काफी उत्साह है और बाजारों में महिलाओं की खरीदारी से संबंधित दुकानों को लदालद भरते हुए खूब सजाया गया है। करवाचौथ को लेकर शहर के बाजारों में अभी से महिलाओं की भीड़ जुटना शुरू हो गई है और इस समय महिलाओं के सोलह शृंगार को पूरा करने वाली दुकानें भी देर शाम तक खुली रखी जा रही है।

करवाचौथ पर शृंगार सामग्री की दुकानों के अलावा कपड़ा-जूतों, पूजा सामग्री, मेवों तथा सराफा बाजार में खरीदारी होती है, लिहाजा इन दुकानों पर महिलाओं की चहल-पहल लगातार बढ़ रही है और खरीदारी को लेकर इस उत्साह को देख दुकानदार भी नई से नई वैरायटी पेश कर रहे हैं।

पति की दीर्घ आयु के लिए रखे जाने वाले करवाचौथ के इस व्रत का महिलाएं साल भर इंतजार करती है और इस दिन के लिए उनकी खरीदारी भी कई दिन पहले शुरू हो जाती है। सबसे पहले कपड़ों की खरीदारी होती है और कपड़ों के रंगों व डिजाइनों के आधार पर महिलाएं शृंगार सामग्री की खरीदारी करती है। यहीं कारण है कि इस समय सबसे अधिक भीड़ कपड़ों की दुकानों पर देखने को मिल रही है।

ब्यूटी पार्लरों में अभी से बुकिंग : शहर के प्रमुख ब्यूटी पार्लरों में तो अभी से करवाचौथ के दिन की बुकिंग फुल होना शुरू हो गई है तो वहीं गली-मुहल्लों में स्थित ब्यूटी पार्लरों में भी इन दिनों महिलाएं एडवांस में टाइम बुक करवा रही है ताकि करवाचौथ के दिन इन्हें सजने-संवरने के लिए पार्लर में इंतजार न करना पड़े। महिलाओं को आकर्षित करने के लिए ब्यूटी पार्लर भी इस खास दिन के लिए खास आफर लेकर आए है। पुराने शहर के शृंगार ब्यूटी पार्लर की संचालक नीना शर्मा की माने तो उन्होंने हेयर केयर, स्किन केयर, फुल बॉडी स्पा, डिजाइनर नेल व फेशियल को लेकर अलग-अलग पैकेज तैयार किए है और सब पर आकर्षित छूट दी जा रही है।

सराफा बाजार में 100 करोड़ से अधिक की बिक्री होने की उम्मीद : करवाचौथ के इस त्योहार पर सबसे मोटा कारोबार सराफा बाजार में होने की उम्मीद जताई जा रही है। ऐसा अनुमान है कि शहर के सराफा बाजार में इस त्योहार पर 100 करोड़ के आसपास का कारोबार होगा। इस समय सोने के भाव भी पांच हजार रुपये प्रति ग्राम के आसपास है जाेकि पिछले सालों की तुलना में कम है। इससे भी सोने के जेवरातों की खरीदारी को बल मिलने की संभावना है। सराफा बाजार के बाद कपड़ा बाजार में करीब 50 करोड़ रुपये का कारोबार होने तथा शेष बाजार में भी 50 करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद जताई जा रही है। न्यू प्लाट स्थित हेमंत ज्वैलर्स के मालिक हेमंत खोसला के अनुसार करवाचौथ की खरीदारी को लेकर इस बार उत्साह देखने को मिल रहा है। हेमंत के मुताबिक सोने के कम भाव के कारण भी लोग उत्साहित है और उनके पास जेवर तैयार करने के कुछ आर्डर भी आए है जिन्हें तैयार किया जा रहा है ताकि अगले एक-दो दिन में सौंपे जा सके।

रेडीमेड कपड़ों की ओर रूख : करवाचौथ को लेकर जिन महिलाओं ने तो समय रहते सूट या साड़ियां खरीद कर तैयार करवा ली, वो तो दूसरी खरीदारी में जुटी है लेकिन जिन्होंने अभी तक ऐसा नहीं किया था, उन्हें अब रेडीमेड कपड़ों की खरीदारी करनी पड़ रही हैं क्योंकि शहर की प्रमुख बूटीक अब सूट या साड़ी की चोली सिलकर देने को तैयार नहीं। इन बूटीक में करवाचौथ को लेकर अत्याधिक आर्डर है और अब तो कुछ बूटीक ने नए आर्डर लेना भी बंद कर दिए है। पुरानी मंडी स्थित डीएस बूटीक के संजय कुमार बताते हैं कि अब वो सिलाई का कोई नया आर्डर नहीं ले रहे। जितने है, उन्हें ही किसी तरह पूरा करने की कोशिश है। संजय कहते है कि अब आर्डर ले लिया और समय पर नहीं दे पाए तो इससे नाम खराब होता है, इसलिए वह अब नए आर्डर नहीं ले रहे।

दो साल मंदी में रहा बाजार : कोरोना महामारी के कारण वर्ष 2020 और 21 में बाजार पूरी तरह से मंदी की चपेट में रहा था। इस दौरान महिलाओं ने सीमित रूप से त्योहार की परंपरा निभाई। इसके चलते खरीदारी में भी कोई उत्साह नजर नहीं आया। पिछले साल भी करवाचौथ पर जम्मू व आसपास के क्षेत्रों में कुल कारोबार 70 से 80 करोड़ रुपये के आसपास ही रहा था लेकिन इस बार बाजारों में अभी से जो भीड़ नजर आ रही है, उसे देखते हुए यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि कुल कारोबार 200 करोड़ से अधिक होगा।

  • दो साल बाद शहर के बाजारों में त्योहारों की रौनक नजर आ रही है। इस बार नवरात्र के दौरान भी अच्छी खरीदारी हुई है। अब करवाचौथ को लेकर भी बाजार में उत्साह नजर आ रहा है। ऐसे में यह उम्मीद कर सकते है कि अगले एक सप्ताह में अच्छी बिक्री होगी। करवाचौथ के बाद दीपावली और भईयादूज का त्याेहार है और उसके बाद नवंबर में शादियों का सीजन शुरू होगा। ऐसे में हर तरफ यह उम्मीद जगी है कि इस बार बाजार गुलजार रहेंगे। -नीरज आनंद, प्रधान चैंबर आफ ट्रेडर्स फेडरेशन

Edited By: Rahul Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट