जम्मू, जागरण संवाददाता : बरसात में जलभराव का कारण बन रहे नालों पर हुए अतिक्रमण के खिलाफ जम्मू नगर निगम ने मुहिम को आगे बढ़ाते हुए बुधवार को जीवन नगर में नाले पर बने कमरों को तोड़ डाला। लोगों के विरोध के बीच निगम की टीम ने पुलिस की मदद से नाले को अतिक्रमण मुक्त करते हुए लोगों को राहत प्रदान की। इसके अलावा ग्रीन बेल्ट पार्क में जम्मू डायग्नोस्टिक के नजदीक भी नाले पर बनाए थड़ों को तोड़ा।

निगम आयुक्त अवनी लवासा की देखरेख में जम्मू नगर निगम की टीम बुधवार को जीवन नगर में पहुंची। यहां नाले का निरीक्षण करने के साथ ही निगम आयुक्त ने अतिक्रमण को हटाने के निर्देश दिए। फिर क्या था निगम की जेसीबी मशीनों ने कार्रवाई शुरू कर दी। नाले पर एक महिला कमलेश कुमारी पुत्री मोहन लाल ने कमरे बनाए हुए थे। महिला व उसके समर्थकों ने निगम की इस कार्रवाई का विरोध करना शुरू कर दिया। उन्होंने निगम कर्मचारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगाए। उनका कहना था कि बिना किसी नोटिस के उनके मकान को तोड़ा जा रहा है। अलबत्ता उनकी किसी भी अधिकारी ने सुनी नहीं। अधिकारियों का कहना था कि अतिक्रमणकारियों को कोई नोटिस नहीं दिया जाता।

इसके साथ ही निगम की मशीनरी ने काम शुरू किया और करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद नाले पर बनाए गए ढांचों को तोड़ते हुए मलबे को ठिकाने लगाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी।

नालों से खुद हटा लें अतिक्रमण या कार्रवाई को रहें तैयार

मौके पर पहुंचे चीफ खिलाफवर्जी आफिसर राजेश गुप्ता ने कहा कि नालों पर किसी प्रकार का अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लोग स्वयं नालों से अतिक्रमण हटा लें। वरना निगम इस कार्रवाई को अंजाम देने से पीछे नहीं हटेगा। जीवन नगर पर नाले पर बने कमरे तोड़ दिए गए। कुछ दिन पहले नई बस्ती में नाले पर बनाए गए ढांचे तोड़े गए थे। इतना ही नहीं अवैध निर्माण करने वालों को भी नहीं बख्शा जाएगा। बुधवार को सैनिक कालोनी में भी अवैध इमारत को तोड़ दिया गया।  

Edited By: Vikas Abrol