जम्मू, जागरण संवाददाता : केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के पर्वतीय और मैदानी इलाकों में पिछले 24 घंटों से जारी बर्फबारी और बारिश से भले ही निजात मिल गई है लेकिन इसके बाद दुश्वारियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बर्फबारी और बारिश से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग गत शनिवार से भूस्खलन होने से यातायात के लिए पूरी तरह से बंद है। भले ही मौसम साफ हो गया है लेकिन आज भी जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग खुलने के आसार नहीं हैं। वहीं भारी बर्फबारी के कारण श्रीनगर के एयरपोर्ट से रविवार सुबह जम्मू सहित देश के अन्य भागों के लिए कोई भी उड़ान संभव नहीं हो सकी है।दोपहर को रनवे क्लीयर होने के उपरांत ही उड़ानें संभव हो सकी । इसकी पुष्टि डायरेक्टर श्रीनगर एयरपोर्ट संतोष डोके ने भी की है।

हालांकि कुछ स्थानों पर भूस्खलन के कारण सड़क पर गिरा मलबा हटाने का काम जारी है लेकिन रामबन कंट्रोल रूम के अनुसार आज भी यातायात बहाल होने की उम्मीद नहीं है। अगर शाम तक राष्ट्रीय राजमार्ग पर गिरी पस्सियां हटा भी ली गई तो सबसे पहले रास्ते में फंसे 1400 के करीब छोटे-बड़े वाहनों को निकालने की व्यवस्था की जाएगी। इसके उपरांत ही सोमवार से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को यातायात के लिए एकतरफा खोला जा सकता है।

प्रदेश के मैदान और पर्वतीय इलाकों में आज दिन भर मौसम साफ रहेगा। इससे लोगों ने राहत की सांस ली है। कश्मीर संभाग के भीतरी क्षेत्र भारी बर्फबारी के कारण आज भी बंद है। इन मार्गों से बर्फ हटाने का काम जारी है। जवाहर टनल में काफी बर्फबारी हुई है। वहां से बर्फ हटाने की प्रक्रिया कल शाम से ही जारी है।  बीते कल यानि शनिवार को जम्मू संभाग के पत्नीटाॅप, सनासर, त्रिकुटा पहाड़ी आदि क्षेत्रों में बर्फबारी हुई वहीं कश्मीर के गुलमर्ग, पहलगाम और दूसरे कई क्षेत्रों में भी बर्फबारी हुई है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021