जम्मू, जागरण संवाददाता। प्रशासन द्वारा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का पहला गणतंत्र दिवस समारोह जम्मू के मौलाना आजाद (एमए) स्टेडियम में आयोजित करने की तैयारी की जा रही है। इससे न सिर्फ केंद्र सरकार द्वारा करोड़ों की लागत से बनाए जा रहे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का मैदान खराब हो जाएगा बल्कि एक बार फिर इस मैदान में घरेलू और टी-20 मुकाबले की मेजबानी में जम्मू-कश्मीर के क्रिकेट प्रेमियों को लंबा इंतजार करना पड़ेगा।

एमए स्टेडियम को अंतरराष्ट्रीय स्तरीय क्रिकेट स्टेडियम में परिवर्तित करने के लिए पिछले दो वर्ष से अधिक समय से नेशनल प्रोजेक्ट्स कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन (एनपीसीसी) की देखरेख में प्रधानमंत्री विकास कार्यक्रम के तहत 42 करोड़ रुपये की लागत से जारी काम अब अंतिम चरणों में है। उम्मीद है कि इसे दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। ऐसे में अब प्रशासन की नजर इस मैदान पर है, जहां वह आगामी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह मनाना चाहता है।

गत वर्ष एमए स्टेडियम में निर्माण कार्य के चलते गणतंत्र दिवस समारोह जम्मू यूनिवर्सिटी में मनाया गया था। इससे पूर्व प्रशासन हर बार गणतंत्र दिवस समारोह आयोजित करता आ रहा है लेकिन अब राज्य के पूर्व रणजी क्रिकेटर करोड़ों रुपये की लागत से तैयार होने वाले अंतरराष्ट्रीय स्तरीय एमए स्टेडियम के क्रिकेट मैदान में गणतंत्र दिवस समारोह मनाने के पक्षधर नहीं हैं। प्रशासन की ओर से स्टेडियम निर्माण में लगी कंपनी को जल्द से जल्द काम निपटाने के दिशा निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। एमए स्टेडियम के भीतर बनी सड़क पर तारकोल बिछाने का भी काम शुरू हो चुका है।

खिलाड़ियों का कहना दूसरा स्थान ढूंढे प्रशासन

पूर्व क्रिकेटर रंजीत कालरा का कहना है कि प्रशासन को इस फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए। करोड़ों रुपये खर्च कर स्टेडियम में काम जारी है। ऐसे में अगर इसमें गणतंत्र दिवस समारोह आयोजित किया गया तो मैदान को काफी नुकसान पहुंचेगा। गणतंत्र दिवस समारोह को सुंजवां स्थित जोरावर सिंह स्टेडियम या फिर किसी अन्य वैकल्पिक स्थान पर आयोजित करना उचित होगा। जम्मू-कश्मीर के क्रिकेट प्रेमी बड़ी आस लगाए बैठे हैं कि कम से कम इस नए स्टेडियम में उन्हें रणजी मुकाबले के बाद टी-20 मुकाबला देखने का आनंद मिल सके लेकिन उनकी उम्मीदों को बहुत बड़ा झटका लग सकता है।

खराब हो जाएगा मैदान

पूर्व रणजी क्रिकेटर विवेक शर्मा का कहना है कि अंतरराट्रीय स्तरीय एमए स्टेडियम के मैदान को हरा-भरा रखने के लिए करोड़ों रुपये के स्प्रिंकल प्वाइंट, ड्रेनेज सिस्टम और अन्य ढांचा विकसित किया गया है। अगर इस मैदान में गणतंत्र दिवस समारोह होगा तो फिर मैदान जरा भी खेलने लायक नहीं रहेगा। प्रशासन को चाहिए था कि पिछले एक वर्ष के दौरान समारोह आयोजित करने के लिए कोई अन्य विकल्प तैयार कर लेता लेकिन खेल और खिलाडिय़ों की यहां किसी को भी परवाह नहीं है। 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप