जम्मू, जागरण संवाददाता । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर दो अक्टूबर से प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के अभियान से पूर्व जम्मू नगर निगम च्प्लास्टिक प्रदूषण के विरुद्ध जम्मूज् अभियान छेड़ने जा रहा है। 11 से 26 सितंबर तक यह अभियान चलेगा। इसमें स्कूलों, संस्थानों, मोहल्ला वेलफेयर एसोसिएशन, गैर सरकारी संस्थाओं, स्वयं सेवियों को जोड़ा जाएगा।

इस अभियान में स्कूली शिक्षा निदेशालय व प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन जम्मू डिवीजन नगर निगम का सहयोग कर रहे हैं। इसके तहत शहर भर में प्लास्टिक प्रदूषण के प्रति जागरूक करती रैलियां निकाली जाएंगी। छात्र व स्वयं सेवी सड़क किनारों व घरों से प्लास्टिक कचरा एकत्र करेंगे। छात्रों को उनके घरों, पड़ोसियों से प्लास्टिक कचरा जुटाकर स्कूल में जमा कर रसीद लेनी होगी। कचरे को फिर रीसाइकिल किया जाएगा ताकि इससे प्रदूषण फैलने से बचाया जा सके। अच्छा प्रदर्शन करने वाले स्कूलों, छात्रों, वेलफेयर एसोसिएशन, एनजीओ को दो अक्टूबर को सम्मानित किया जाएगा।

कपड़े के बैग बांट रहे वडेरा

सामाजिक कार्यकर्ता केवल कृष्ण वडेरा पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रहे हैं। वह लोगों को कपड़े के बैग वितरित करते हुए पॉलीथिन का इस्तेमाल बंद करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। उन्होंने विभिन्न स्कूलों में जाकर बच्चों को प्लास्टिक कचरे से पर्यावरण को होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक किया। जानीपुर स्थित गवर्नमेंट गल्र्स हाई स्कूल, एसीएम पब्लिक स्कूल जानीपुर और त्रिकुटा प्राइमरी स्कूल बन तालाब में शिक्षकों और छात्रों को पर्यावरण संरक्षण के बारे जागरूक किया। वडेरा एक हजार से अधिक सरकारी और निजी स्कूलों में बच्चों को पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूक कर चुके हैं। वह जिन स्कूलों में जाते हैं वहां जूट के बैग वितरित कर यह संदेश देते हैं कि मोमी लिफाफे और प्लास्टिक पर्यावरण के लिए घातक हैं।

प्रतिदिन निकलता है 60 क्विंटल प्लास्टिक कचरा

नगर निगम ने शहर से निकलने वाले प्लास्टिक कचरे के खात्मे के लिए इंडियन पॉल्युशन कंट्रोल एसोसिएशन के साथ समझौता किया है। कुछ दिन में एग्रीमेंट की औपचारिकता पूरी कर ली जाएगी। फिर यह एनजीओ शहर में प्लास्टिक कचरा जमा करने की प्रक्रिया शुरू करेगा। यह एसोसिएशन प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट पर काम कर रही है। निगम को इसके लिए अपने पास से धन नहीं खर्च करना है। एसोसिएशन ही शहर भर से प्लास्टिक कचरे को एकत्र करेगी। नियमों के तहत जो कंपनी प्लास्टिक उत्पादन करती है, उसको इस प्लास्टिक को वापस लेना होता है। ऐसा हो नहीं रहा। इसी कड़ी में एनजीओ कदम उठाते हुए बोतलें, प्लास्टिक के पाउच समेत हर तरह के प्लास्टिक को जमा करेगा। इसके लिए पहले ही एनजीओ कंपनियों से जुड़ी हुई है। शहर से रोजाना करीब 60 क्विंटल प्लास्टिक कचरा निकलता है। निगम के अनुसार शहर में 100 कबाड़ी पंजीकृत हैं। इनसे भी रोजाना प्लास्टिक कचरा लिया जाएगा। लोगों को प्लास्टिक कचरा देने पर पैसे भी दिए जाएंगे। लोग प्लास्टिक की चीजें इन्हें बेच सकेंगे। कबाड़ियों से भी पैसे लेकर यह कचरा ले लिया जाएगा।

अभियान के तहत शहर में यह होंगे प्रमुख कार्यक्रम

11 सितंबर : श्री रणबीर हायर सेकेंडरी स्कूल परेड से मुबारक मंडी जम्मू तक रैली।

12 से 24 सितंबर : प्लास्टिक कचरा जमा करने के लिए पंजीकृत स्कूलों में कार्यक्रम।

24 से 26 सितंबर : जमा किए गए कचरे का अलगाव करना। इसे रीसाइकिलिंग के लिए इंडस्ट्री तक पहुंचाना।

2 अक्टूबर : सम्मान समारोह

प्लास्टिक कचरे से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक करेंगे 

पंद्रह दिवसीय इस अभियान से जम्मू नगर निगम शहर भर में लोगों को प्लास्टिक कचरे से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक करेगा। छात्रों व स्वयं सेवियों के माध्यम से कचरे को एकत्र भी किया जाएगा। इसे फिर रीसाइकिलिंग के लिए कंपनियों में भेजा जाएगा। गांधी जयंती से पहले निगम इस कार्यक्रम को अंजाम देगा। शहर वासी, संगठन इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए सहयोग करें।

- पंकज मगोत्र, म्यूनिसिपल कमिश्नर, जम्मू

नगर निगम का दिल्ली की एक एनजीओ से समझौता हुआ

शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए नगर निगम ने दिल्ली की एक एनजीओ से समझौता किया है। हफ्ते-पंद्रह दिन में एनजीओ प्लास्टिक वेस्ट जमा करने का काम शुरू कर देगी। निगम उन्हें जगह देगा। जगह की तलाश की जा रही है, जहां सेंटर व आउटलेट खोले जाएंगे। एनजीओ शहर वासियों को प्लास्टिक कचरे के बारे जागरूक करने का अभियान भी चलाएगी। निगम इसमें सहयोग करेगा। सारा प्लास्टिक वेस्ट यह एनजीओ घरों, स्कूलों, कंपनियों, प्रतिष्ठानों से जमा करेगी। इसके अलावा पंद्रह दिवसीय अभियान 11 सितंबर से शुरू कर रहे हैं। सभी लोग इस अभियान का हिस्सा बनें।

- डॉ. जफर इकबाल, स्वच्छ भारत मिशन, नोडल आफिसर (एमवीओ), जम्मू नगर निगम

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस