जम्मू, राज्य ब्यूरो । केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में भर्ती प्रक्रिया को तेजी देने के साथ साथ वर्षों से रुके पड़े नियुक्तियों के मामलाें के निपटारे के लिए जम्मू कश्मीर सर्विस सेलेक्शन बोर्ड ने कमर कस ली है। पिछले दिनों सरकार ने निर्धारित समय के भीतर चयन सूचियां जारी करने, भर्ती प्रक्रिया को तेजी देने, पारदर्शिता को बढ़ावा देने के आदेश दिए थे।

बोर्ड के चेयरमैन खालिद जहांगीर ने सक्रियता दिखाते हुए सभी अधिकारियों से कहा है कि वे रुके पड़े नियुक्तियों के लंबित मामलों की मौजूदा स्थिति को पेश करें। इसके लिए उन्होंने एक सप्ताह का समय दिया ताकि बोर्ड की बैठक में इनके निपटारे के लिए कदम उठाए जाएं। उन्होंने बोर्ड के कानून अधिकारियों से कहा है कि वे नियमित तौर पर न्यायालय में लंबित मामलों को देखें और बोर्ड के फैसले के पक्ष में मामलों का निपटारा करवाने में प्रभावी कदम उठाएं।

बताते चले कि नियुक्तियों के बहुत सारे मामलों में खामियां रह जाने से चयन प्रक्रिया रुक जाती है। इसके कई कारण होते है। कुछ में उम्मीदवारों के दस्तावेज पूरे नहीं होते है। कुछ उम्मीदवार न्यायालयों में चले जाते हैं। ऐसे में कई मामले लम्बे समय तक लटके रहते है। इस समय बोर्ड विभिन्न विभागों में पदों को भरने के लिए भर्ती प्रक्रिया चला रहा है।

बोर्ड के चेयरमैन ने कामकाज की समीक्षा में अधिकारियों से समय पर भर्ती प्रक्रिया को चलाने, पूरी पारदर्शिता बरतने के अलावा ई-आफिस को लागू करने, ओएमआर परीक्षा के लिए एजेंसी को अधिकृत करने को टेंडर निकालने समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की है। बोर्ड ने कुछ समय पहले पंचायतों में अकाउंट असिस्टेंट के पदों की फाइनल सूची जारी की है। अब 8575 चतुर्थ श्रेणी के पदों के लिए प्रस्तावित सूची के अनुसार दस्तावेज चेकिंग की प्रक्रिया चल रही है। करीब दस हजार से अधिक पद भरने की प्रक्रिया चल रही है और विभागों से पद रेफर होकर भरने के लिए बोर्ड के पास पहुंच रहे है। 

Edited By: Vikas Abrol