जम्मू, जेएनएन। कश्मीर में सामान्य होते हालात में फिर से दहशत की आग भड़काने का प्रयास कर रहे राष्ट्र विरोधी तत्वों पर पुलिस ने लगाम कसना शुरू कर दी है। आम लोगों में डर फैलाने की मंशा से कश्मीर में वारदातों को अंजाम दे रहे ऐसे अापराधिक तत्वों को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा जारी मुहिम के दौरान बारामुला में दुकानों को आग के हवाले करने वाले चार लोगों को हिरासत में ले लिया गया है।

इस बात की जानकारी एसएसपी बारामुला अब्दुल क्यूम ने पत्रकारों को दी। एसएसपी ने बताया कि गत 24 नवंबर की शाम को बारामुला में दुकानें जलाई गई थी। ये वे दुकानें थी, जो आतंकवादियों, अलगाववादियों की कई चेतावनियों के बावजूद खोली जा रही थी। उस दिन शाम को अचानक क्षेत्र मे अफरा-तफरी का माहौल व्याप्त हो गया। कुछ संदिग्ध लोगों ने लिबास घर और टेक्सटाइल दो दुकानों को पूरी तरह आग के हवाले कर दिया। इससे पहले कि वह साथ लगती तीसरी दुकान को भी आग लगाते, शोर मचने पर वे वहां से भाग निकले। लोगों की शिकायत पर पुलिस उसी दिन से जांच में जुट गई।

आगजनी की इस वारदात में शामिल चार लोगों को हिरासत में लिया गया जिनकी पहचान मारूफ, आदिल, बिलाल और समीर के तौर पर हुई है। इन चारों ने दुकानों को जलाने की योजना बनाई। पेट्रोल लाने की जिम्मेदारी समीर को सौंपी गई। इसके लिए सभी ने मिलकर उसे चार सौ रूपये भी दिए। जिस समय इस घटना को अंजाम दिया गया, उस समय बिजली गई हुई थी। लिबास घर पर पेट्रोल छिड़कने के बाद उसे सबसे पहले आग लगाई गई। उसके बाद मार्डन टेक्सटाइन पर पेट्रोल डाला गया। उसे अभी आग लगाई ही गई थी कि लोग वहां एकत्र होना शुरू हो गए। इस घटना में तीन मंजिला लिबास घर पूरी तरह से स्वाह हो गया जबकि अन्य दो दुकानों को मामूली क्षति पहुंची है। चारों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही कोर्ट में इनके खिलाफ चालान पेश कर दिया जाएगा। 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप