जम्मू, जेएनएफ: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के कुछ हिस्सों में बादल फटने से हुई तबाही का संज्ञान लेते हुए जम्मू-कश्मीर लीगल सर्विस अथारिटी के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन जस्टिस अली मोहम्मद मार्गे तथा लद्दाख लीगल सर्विस अथारिटी के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन जस्टिस डीएस ठाकुर ने किश्तवाड़, बांदीपोरा व कारगिल डिस्ट्रक्ट लीगल सर्विस अथारिटी को कोर ग्रुप गठित करने का निर्देश दिया है।

जस्टिस मार्गे ने इन ग्रुपों को पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए तत्काल कदम उठाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि ये ग्रुप सरकार, गैर सरकारी संस्थाओं व अन्य संबंधित एजेंसियों से समन्वय कायम करके पीड़ितों तक राहत पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि ये ग्रुप प्रभावितों के लिए सुरक्षित स्थानों को आश्रय बनाने, उनके लिए खाना, दवाइयां व पेयजल पहुंचाने की प्रक्रिया की निगरानी करेंगे।

इन ग्रुपों को प्रभावित क्षेत्रों में अस्थायी सहायता केंद्र स्थापित करने का निर्देश देते हुए जस्टिस मार्गे ने कहा कि ये ग्रप राहत शिविरों में कानूनी सहयोग को लेकर विशेष जागरूकता शिविर भी आयोजित करें। उन्होंने कहा कि प्रभावित लोगों के पुनर्वास, उनकी देखभाल व जो बच्चे अनाथ हो गए है, उनकी आगे की पढ़ाई को सुनिश्चित बनाने के लिए ग्रुप उचित कदम उठाए। इसके अलावा जिन लोगों का कारोबार प्रभावित हुआ है या किसी को बीमा राशि लेने में दिक्कत आ रही है तो ग्रुप बीमा राशि दिलाने व बैंकों से कर्ज आदि दिलवाने में प्रभावितों की मदद करें।

इस हादसे से अगर कोई दीमागी तौर पर आहत हुआ है और उसे मनोवैज्ञानिक की आवश्कता है तो इसका प्रबंध करने की जिम्मेदारी भी इन ग्रुपों की होगी। जस्टिस मार्गे ने यह सब कार्य कर रिपोर्ट पेश करने का भी निर्देश दिया।

 

Edited By: Rahul Sharma