जम्मू, राज्य ब्यूरो।  Azad and Ambikas visit to Jammu Kashmir राज्यसभा में विपक्ष के नेता, पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव व जम्मू कश्मीर मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी का दो दिवसीय जम्मू दौरा राज्य में कांग्रेस की गतिविधियों को तेजी देगा।

इसके साथ ही प्रदेश नेतृत्व को दिशानिर्देश मिलेंगे। पार्टी का आधार मजबूत बनाने के लिए रणनीति भी बनाई जाएगी। इस समय केंद्र की सत्ताधारी पार्टी भाजपा नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जागरूकता अभियान चला रही है। हालांकि कांग्रेस ने इस मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन किया था। महंगाई व बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर भी प्रदर्शन हुए, लेकिन बड़े पैमाने पर पार्टी की गतिविधियां चल नहीं पा रही है।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि कश्मीर से पार्टी के कई नेता जम्मू पहुंचे हैं। वीरवार को जम्मू पहुंच रहे गुलाम नबी आजाद व अंबिका सोनी की कश्मीर के नेताओं से बातचीत होगी। दोनों नेता राजनीतिक परिदृश्य व सुरक्षा हालात का जायजा लेने आ रहे हैं। केंद्र सरकार व भाजपा को घेरने के लिए रणनीति भी बनाई जाएगी। पार्टी की कार्यकारी समिति की बैठक भी होगी।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद दोनों नेताओं ने एक-एक दौरा किया था। इस समय तीन पूर्व मुख्यमंत्री और कुछ नेता नजरबंद हैं। कांग्रेस विपक्षी नेताओं की रिहाई की मांग करती रही है। इस समय नेकां व पीडीपी की गतिविधियां ठप पड़ी हैं। ऐसे में कांग्रेस जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाने के लिए सक्रियता बढ़ा रही है। वरिष्ठ नेताओं, पदाधिकारियों व जिला प्रधानों से करेंगे भेंट। 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता र¨वद्र शर्मा का कहना है कि आजाद व अंबिका सोनी वरिष्ठ नेताओं, पदाधिकारियों व जिला प्रधानों से मुलाकात करेंगे। पिछले दिनों प्रदेश कांग्रेस प्रधान जीए मीर के नेतृत्व में पार्टी का प्रतिनिधिमंडल कश्मीर जाना चाहता था, लेकिन प्रशासन ने इजाजत नहीं दी। जीए मीर, ताराचंद व रमण भल्ला को नजरबंद कर लिया गया था। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस