जागरण संवाददाता, जम्मू : जिले में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। कोरोना महामारी के पहली व दूसरी लहर के सभी पुराने रिकार्ड तोड़ते हुए वीरवार को जम्मू जिले में 1,217 नए संक्रमित सामने आए। इससे प्रशासन में हड़कंप मच गया।

वीरवार को जम्मू जिले में कोरोना संक्रमण दर 15.21 फीसद रिकार्ड की गई, जो कोरोना महामारी के शुरू होने से लेकर अब तक की सबसे अधिक संक्रमण दर रही। जिले में पिछले एक सप्ताह की औसतन संक्रमण दर दस फीसद से ऊपर चल रही है। जिले में कुल संक्रमितों का आंकड़ा वीरवार को 6,675 तक पहुंच गया। हालांकि वीरवार को 300 लोग स्वस्थ भी हुए। वीरवार को जिले में आज तक के सबसे अधिक 1217 नए मामले रिपोर्ट हुए जिनमें से 24 लोग ऐसे थे जो बाहरी राज्यों से आए थे और शेष 1193 लोग स्थानीय हैं, जिनकी कोई ट्रेवल हिस्ट्री भी नहीं है।

श्रीनगर जिले के बाद जम्मू जिले में सबसे अधिक नए मामले सामने आए हैं। जम्मू संभाग के शेष नौ जिलों में कुल मिलाकर भी जितने मामले सामने आ रहे हैं, उससे कहीं अधिक केवल जम्मू जिले में आ रहे हैं। वीरवार को हालांकि राहत की बात यहीं रही कि शहर व आसपास के इलाकों में कोई नया माइक्रो कंटनेमेंट जोन नहीं बना। दुकानें खोलने को लेकर चौतरफा असमंजस प्रदेश प्रशासन की ओर से वीरवार को जारी आदेश के तहत शुक्रवार दोपहर दो बजे से लेकर सोमवार सुबह छह बजे तक सभी गैर जरूरी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

ऐसे में जम्मू जिले में भी यह प्रतिबंध लागू रहेगा, लेकिन इस प्रतिबंध के दौरान गैरजरूरी सामान की दुकानों को खोलने को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है। पिछले सप्ताह भी असमंजस की स्थिति बनी रही थी। शनिवार को शाम तक सभी बाजार खुले रहे और रविवार को कई क्षेत्रों में गैरजरूरी सामान की दुकानें खुली रही तो कई क्षेत्रों में बंद। सांबा व ऊधमपुर जिले में प्रशासन ने इन प्रतिबंध के दौरान खुलने वाली दुकानों का बकायदा रोस्टर जारी किया है, लेकिन जम्मू जिला प्रशासन की ओर से कोई स्पष्ट निर्देश जारी नहीं किए गए और न ही प्रदेश आपदा प्रबंधन कमेटी की ओर से जारी आदेश में कुछ स्पष्ट किया गया है, जिससे व्यापारियों में असमंजस बना हुआ है।

जम्मू जिले में लाकडाउन नहीं : डीसी जम्मू के डिप्टी कमिश्नर अंशुल गर्ग ने वीरवार को एक बयान जारी कर फिर कहा कि जिले में कोई लाकडाउन नहीं लगाया गया है। अंशुल गर्ग ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि प्रशासन की ओर से गैर जरूरी गतिविधियों पर रोक लगाई गई है। इस अवधि के दौरान ट्रांसपोर्ट सेवाएं चलती रहेगी और सरकारी कार्यालयों में भी कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर रहेंगे। गैर जरूरी गतिविधियों पर प्रतिबंध के दौरान गैर-जरूरी सामान की दुकानों के खुलने पर अंशुल गर्ग ने कहा कि चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू ने इसमें पहल करते हुए अपने व्यापारियों से इस अवधि के दौरान गैर-जरूरी सामान की दुकानें बंद रखने का आह्वान किया है जिसके लिए वह चैंबर के आभारी है। अंशुल गर्ग ने कहा कि प्रशासन चाहता है कि इस अवधि के दौरान कोई भी बिना कारण घर से बाहर न निकले और कोविड-19 एसओपी का सख्ती से पालन करें।