Move to Jagran APP

Jammu Kashmir Weather: मैदानी इलाकों में गर्म हवाओं के थपेड़े तो पहाड़ों पर मूसलधार बारिश, 28 मई तक ऐसा रहेगा मौसम का हाल

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir Weather) में मैदानी इलाकों में हो रही भीषण गर्मी से लोगों को राहत मिलती नहीं दिख रही है। वहीं पहाड़ों पर मूसलाधार बारिश हो रही है। इसके चलते पहाड़ी इलाकों में लगातार मौसम में बदलाव होता रहा। गर्मी के कारण लोग घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं। वहीं मौसम विभाग ने 28 मई तक प्रचंड गर्मी रहने की बात कही है।

By rakesh sharma Edited By: Deepak Saxena Published: Tue, 21 May 2024 08:15 AM (IST)Updated: Tue, 21 May 2024 08:15 AM (IST)
मैदानी इलाकों में गर्म हवाओं के थपेड़े तो पहाड़ों पर मूसलधार बारिश।

जागरण संवाददाता, कठुआ। एक तरफ जिले के मैदानी इलाके तप रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ पहाड़ी इलाकों में बादल व बारिश के कारण मौसम सुहाना बना हुआ है। पहाड़ी क्षेत्र में दिनभर मौसम में बदलाव होता रहा, क्योंकि जिले के पहाड़ी क्षेत्र बिलावर व बनी में सोमवार को हुई वर्षा से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। उधर, कठुआ के मैदानी इलाके कठुआ शहर, लखनपुर और हीरानगर आदि में हीट वेव यानी लू का प्रकोप लगातार पांचवें दिन जारी रहा। इससे लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं।

28 मई तक प्रचंड गर्मी रहने की संभावना

सबसे ज्यादा समस्या जरूरी कार्यों को लेकर घरों से बाहर निकलने वाले लोगों को आ रही है। हीट वेव से जहां लोगों को त्वचा रोग से भी ग्रस्त होने की आशंका बन गई है, क्योंकि अभी प्रचंड गर्मी 28 मई तक रहने की मौसम विभाग द्वारा संभावना जताई गई है। हालांकि 2 दिन पहले जिले के पहाड़ी क्षेत्र बसोहली में भी झमाझम वर्षा हुई थी। इसके बावजूद जिला मुख्यालय से सटे मैदानी क्षेत्रों में तापमान में कोई गिरावट नहीं आई। बावजूद जिले के मैदानी क्षेत्र में हीट वेव के प्रकोप से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है।

हीट वेव के चलते स्कूलों के समय में किया गया बदलाव

उधर, सरकार ने प्रचंड गर्मी को देखते हुए स्कूलों के समय सारणी में बदलाव किया है, जिसमें बच्चों को सुबह 8 से 12 बजे तक ही कक्षा चलाने के आदेश जारी किए गए हैं, लेकिन कुछ निजी स्कूल शिक्षा विभाग के आदेशों की बिना परवाह किए सोमवार को भी पहले की तरह 9 बजे से 2 बजे तक कक्षा चलाते रहे। ऐसे में बच्चों को हीट वेव के प्रकोप के चलते स्कूल पहुंचना और वापस आना मुश्किल हो रहा था। अभिभावकों को भी उनके कारण इस प्रकोप का सामना करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़ें: Namo Drone Didi Yojana: जम्मू कश्मीर में नमो ड्रोन दीदी योजना को प्रभावी बनाएगी सरकार की कमेटी

सूरज की तपिश बढ़ा रही लोगों की मुश्किलें

जिले में सोमवार को भी अधिकतम तापमान 44.4 और न्यूनतम तापमान 24.1 डिग्री सेल्सियस रहा। जिले में पिछले तीन दिन से तापमान स्थिर है, जबकि न्यूनतम तापमान प्रतिदिन एक डिग्री में इजाफा हो रहा है। ऐसे में आने वाले दिनों में सुबह भी सूरज की तपिश का लोगों को सामना करना पड़ सकता है। वहीं इन सब से राहत पाने के लिए कुछ लोग नहर के किनारे पूरा दिन बिता रहे हैं। कुछ बड़े-बड़े पेड़ों की छाया में बैठकर गर्मी से बचने का प्रयास कर रहे हैं। इस बीच किसान वर्ग, जिन्होंने सब्जियों की खेती की है, उनके लिए भी हरी सब्जियों को हीट वेव से बचाना मुश्किल हो रहा है।

कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को पालीहाउस का इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही है। इस बीच बढ़ती गर्मी से व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर भी प्रभाव पड़ रहा है। शहर के बाजार में दिन के समय सन्नाटा पसरा होता है। अधिकांश लोग गर्मी से बचने के लिए घरों में ही दुबके हुए हैं।

ये भी पढ़ें: Rajouri Lok Sabha Seat 2024: महबूबा मुफ्ती ने राजौरी के बाजारों में किया रोड शो, 25 मई को अनंतनाग सीट पर मतदान


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.