जम्मू, जेएनएफ। जम्मू कश्मीर बैंक से 177 करोड़ रुपये का ऋण लेकर न लौटाने के आरोपित हिलाल राथर की पुलिस रिमांड को कोर्ट ने ग्यारह दिन के लिए बढ़ा दिया है। एंटी करप्शन ब्यूरो ने 16 जनवरी को हिलाल राथर को गिरफ्तार किया था और अगले दिन उसे कोर्ट में पेश करके सात दिन की रिमांड पर लिया था। ब्यूरो ने रिमांड बढ़ाने की अर्जी दी और कोर्ट ने ग्यारह दिन की रिमांड को मंजूरी दी।

केस के मुताबिक हिलाल ने वर्ष 2012 में जम्मू-कश्मीर बैंक से 177 करोड़ रुपये का ऋण लिया था, लेकिन यह पैसा नहीं लौटाया। यह ऋण भी बैंक नियमों का उल्लंघन कर जारी हुआ था, जिसमें एंटी करप्शन ब्यूरो कई बैंक अधिकारियों से भी पूछताछ कर रहा है। हिलाल राथर ने जम्मू के नरवाल बाला में पैराडाइज एवेन्यू टाउनशिप बनाने के लिए यह ऋण लिया था। राथर ने पैराडाइज एवेन्यू के नाम से एक पार्टनरशिप फर्म बनाई। इसमें सनंत नगर श्रीनगर के डॉ. रिजवान रहीम डार, बारामुला निवासी गुलाम मोहम्मद भट्ट, तथा जम्मू निवासी दलजीत वडेरा व दीपशिखा जम्वाल हिलाल राथर के पार्टनर बने।

जम्मू-कश्मीर बैंक के नियमानुसार एक पार्टनरशिप फर्म को 40 करोड़ रुपये से अधिक ऋण मंजूर नहीं हो सकता था, लेकिन बैंक के तत्कालीन बोर्ड आफ डायरेक्टर्स ने पहले चरण में ही इस फर्म के लिए 74.27 करोड़ रुपये का ऋण मंजूर किया। हिलाल राथर इससे पहले स्टेट फाइनेंशियल कारपोरेशन से भी ऋण ले चुका था और न चुकाए जाने पर कारपोरेशन ने वन टाइम सेटलमेंट के तहत पैसे वसूल किए थे। इसकी जानकारी होने के बावजूद बैंक के बोर्ड आफ डायरेक्टर्स ने 74.27 करोड़ रुपये का ऋण मंजूर किया। इस ऋण की किश्त अदा न किए जाने पर भी बोर्ड ने बाद में हिलाल राथर की फर्म को 100 करोड़ रुपये से अधिक का ऋण दिया और 177 करोड़ रुपये का ऋण एनपीए हो गया। जम्मू-कश्मीर बैंक की न्यू यूनिवर्सिटी कैंपस शाखा से यह ऋण मंजूर किया गया। हिलाल राथर सिमुला ग्रुप आफ कंपनीज का भी मालिक है।

ब्यूरो पिछले कई महीनों से राथर से लगातार पूछताछ कर रही थी ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि राथर ने पैराडाइज एवन्यू बनाने के लिए बैंक से जो 177 करोड़ रुपये के ऋण लिया था, वो कहां खर्च किया गया? राथर पूछताछ के दौरान सहयोग नहीं कर रहा था, लिहाजा ब्यूरो ने उसे हिरासत में लिया। प्रारंभिक पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है कि जेके बैंक से लिए पैसे से राथर ने विदेशों में संपत्ति खरीदी। इसके अलावा उसने परिवार व दोस्तों के साथ विदेश यात्रओं पर करोड़ों रुपये खर्च किए। इन तमाम खर्चाें व अन्य निवेश का पता लगाने के लिए आरोपित से हिरासत के दौरान पूछताछ अनिवार्य है।

जमानत अर्जी पर सोमवार को होगी सुनवाई

दो दिन पूर्व हिलाल राथर को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल जम्मू में भर्ती करवाया गया था। पूछताछ के दौरान हिलाल ने किडनी में दर्द की शिकायत की जिसके बाद ब्यूरो ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया। हिलाल की ओर से कोर्ट में जमानत अर्जी भी दाखिल की गई है जिसमें अस्वस्थ्य होने का दावा किया गया है। कोर्ट ने इस पर सोमवार को सुनवाई करेगा।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस