जम्मू, जेएनएन। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में बढ़ रहे कोरोना संक्रमित के मामलों को मद्देनजर रखते हुए विशेष रूप से गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज श्रीनगर ने 15 मई तक एमबीबीएस, पैरा मेडिकल और बीएससी नर्सिंग की कक्षाएं स्थगित करने का फैसला किया है।

जारी आदेश के मुताबिक, इस दौरान ऑनलाइन टीचिंग जारी रहेगी। इस संबंध में संबंधित विभागों, श्रीनगर स्थित नर्सिंग कॉलेज और एमएमटी स्कूल श्रीनगर को सूचित कर दिया गया है। है। इसी बीच विशेषकर कश्मीर में कोरोना संक्रमण को लेकर हालात काफी खराब होते जा रहे हैं। हालांकि प्रशासन की ओर से कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज हेतु व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं, लेकिन श्रीनगर का सीडी अस्पताल गंभीर रूप से ग्रस्त मरीजों से पूरी तरह से भर चुका है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से ग्रस्त मरीजों को इलाज के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

उपराज्यपाल ने कश्मीर में टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कोविड 19 की स्थिति का जायजा लिया। उन्हें जम्मू-कश्मीर में बढ़ रहे मामलों, टेस्टिंग की क्षमता, हर दिन टेस्ट से आने वाले परिणाम, जिलावार सक्रिय मामले, कोराेना केमरीजों के लिए बिस्तरों की क्षमता, वेंटीलेटर, आॅक्सीजन जेनरेशन प्लांट, जिला वार टीकाकरण की स्थिति के बारे में जानकारी दी गई।

उपराज्यपाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आयुष्मान भारत सेहत योजना के तहत शत-प्रतिशत लोगों के कार्ड बनाए जाएं। उन्होंने सभी जिलों में टीकाकरण अभियान में तेजी लाने को कहा। उन्होंने श्रीनगर जिले के डिप्टी कमिश्नर को टीकाकरण में तेजी लाने के लिए धार्मिके गुरूओं की मदद लेने को कहा। लोगों की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है। बैठक में सलाहकार राजीव राय भटनागर, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रहमण्यम, डीजीपी दिलबाग सिंह, वित्तीय आयुक्त अरुण कुमार मेहता, वित्तिय आयुक्त स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग अटल ढुल्लू, गृह विभाग में प्रमुख सचिव शालीन काबरा सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।