जम्मू, राज्य ब्यूरो। किसानों के समर्थन में अपने देश व्यापी आंदोलन को जारी रखते हुए जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस ने आज शुक्रवार को किसान अधिकार दिवस पर राजभवन घेराव का प्रयास किया। कांग्रेस पार्टी मुख्यालय से राजभवन की ओर जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ता पुलिस द्वारा रोके जाने पर भी जब पीछे नहीं हटे तो पार्टी प्रधान जीए मीर और वरिष्ठ नेता रमन भल्ला को पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया। हालांकि स्थिति सामान्य होने के बाद दोनों नेताओं को रिहा कर दिया।

किसान कानून के खिलाफ देश भर में जारी किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए आज जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने जम्मू में राजभवन घेराव का एलान किया था। जीए मीर, रमन भल्ला समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता की मौजूदगी में सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय के बाहर एकत्र हुए। केंद्र सरकार द्वारा हाल में जारी किए गए कृषि सुधार कानूनों को किसानों के विरूद्ध करार देते हुए जीए मीर ने इन कानूनों को वापस लेने की मांग की।

उन्होंने इस बात पर अफसोस जाहिर किया कि इस कपकपाती सर्दी में जहां लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं, वहां ये गरीब किसान सड़कों पर डेरा डाल अपने हक के लिए लड़ रहे हैं। हद तो यह है कि केंद्र सरकार को इन गरीब किसानों की कोई परवाह नहीं है। यही वजह है कि कांग्रेस ने इन किसानों के आंदोलन के समर्थन में देश व्यापी धरना-प्रदर्शन व रैलियों के आयोजन का जिम्मा लिया है।

जीए मीर, रमन भल्ला की अगुवाई में जैसे ही सैकड़ों कार्यकर्ता रैली में केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए राजभवन की ओर बढ़े रेजीडेंसी रोड पर मौजूद पुलिस जवानों ने उन्हें वहीं रोक दिया। वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों ने कांग्रेस नेताओं को समझाने का प्रयास किया। कार्यकर्ताओं से भी वापस लौटने के लिए कहा गया परंतु वे नहीं माने। इस दौरान दोनों में धक्का-मुक्की शुरू हो गई। हालात नियंत्रण से बाहर होते देख पुलिस ने कांग्रेस प्रदेश प्रधान जीए मीर, वरिष्ठ नेता रमन भल्ला समेत कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया।

नेताओं को हिरासत में लेने के बाद बाकी कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय की ओर लौट गए। हालात सामान्य होने पर करीब एक घंटे बाद जीए मीर, रमन भल्ला समेत हिरासत में लिए गए अन्य सभी कार्यकर्ताओं को रिहा कर दिया गया। वहीं जीए मीर ने कहा कि इस कार्रवाई से कांग्रेस पीछे हटने वाली नहीं है। किसानों काे उनके अधिकार दिलाने के लिए वे इस तरह की विरोध रैलियां आने वाले दिनों में भी निकालते रहेंगे। वहीं रमन भल्ला ने कहा कि आंदोलन का यह सिलसिला तब तक जारी रहेगा जब तक किसानों को उनके अधिकार नहीं मिल जाते। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021