जम्मू, जागरण संवाददाता : गुलशन ग्राउंड में सोमवार को हार्टी एक्सपो का आयोजन किया गया। इस दौरान जम्मू संभाग के विभिन्न इलाकों में उत्पादित फलों की प्रदर्शनी लगाई। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने इस एक्सपो का उद्घाटन करने के बाद लगाए गए स्टालों का निरीक्षण किया। इस दाैरान उन्होंने किसानों और बागवानों से भी बातचीत की और जम्मू क्षेत्र में हो रही बागवानी के बारे में जानकारी हासिल की। उपराज्यपाल ने बागवानों का हौसला बढ़ाया। एक्सपो में स्ट्राबेरी, अमरूद, केला, किंब, कई किस्म के निंबू, जम्मू के पहाड़ी क्षेत्र के अखरोट, पिकानट, पपीता, बेल, कई किस्म के आमले, मलूक, रीढ़ा आदि प्रदर्शित किए गए।

एक्सपो के दौरान स्टाल में फलों से बनने वाले जैम, जैली व आचार का भी प्रदर्शन किया गया। इस दौरान बागवानी अधिकारियों ने उप राज्यपाल को जम्मू संभाग में फलों के पैदावार की विस्तार से जानकारी दी। एक्सो में यहां एक ओर फलों के स्टाल लगाए गए तो वहीं दूसरी ओर विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाकर किसानों, बागवानों को नई-नई तकनीक के बारे में जानकारी दी गई है। यहां तक कि बाहरी राज्य पंजाब, हिमाचल प्रदेश के बागवानी विभाग ने भी अपने अपने स्टाल लगाए। वहीं जैविक खाद को बढ़ावा देने के लिए भी यहां पर विशेष स्टाल लगाए गए थे। संग्रामपुर के किसान व पूर्व सरपंच अश्वनी शर्मा ने बताया कि इस तरह के एक्सो का समय समय पर आयोजन होता रहता चाहिए। इससे किसानों व बागवानों को बढ़ावा मिलेगा।

लोगों को भाया पिकानट : पिकानट बादम और अखरोट की तरह ही सूखा फल होता है। जम्मू क्षेत्र में 30 साल पहले आए पिकानट की खेती आज पुंछ, राजौरी में की जा रही है। बेहतर स्वाद के लिए माने जाने वाले इन सूखे फलों की आजकल अच्छी मांग हो रही है। हार्टी एक्सो में इन सूखे फलों को बखूबी प्रदर्शन किया गया था। वहीं जम्मू की स्ट्राबेरी ने भी लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। साइज में बेहतर यह स्ट्राबेरी स्वाद में भी बेहतर है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021