जम्मू, जागरण संवाददाता। श्रीनगर में इलेक्ट्रिक बस सेवा उद्घाटन का इंतजार कर रही है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गत सोमवार को श्रीनगर के नागरिक सचिवालय से जम्मू-कश्मीर स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन (जेकेएसआरटीसी) की इलेक्ट्रिक बस सेवा का उद्घाटन करना था लेकिन अंतिम समय में कार्यक्रम को स्थगित करना पड़ा। अब राज्यपाल से फिर से उद्घाटन के लिए समय की मांग की जाएगी और उसके बाद ही इन बसों को सड़कों पर उतारा जाएगा। इसीलिए कश्मीर के लोगों को इन बसों में बैठने के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा।

कर्नाटक के धरवाड़ा प्लांट से जम्मू और श्रीनगर शहर के लिए 20-20 इलेक्ट्रिक बस भेजी गई। जम्मू में गत 27 मई को एसआरटीसी की इलेक्ट्रिक बस सेवा तो शुरू कर दी गई लेकिन एसआरटीसी प्रबंधन द्वारा समय पर इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग के लिए प्वाइंट नहीं बनाए जाने के कारण बस सेवा को शुरू करने का योजना समय पर शुरू नहीं हो सकी।

एसआरटीसी के प्रबंधक निदेशक बिलाल भट्ट ने बताया कि श्रीनगर के नागरिक सचिवालय से राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एसआरटीसी की इलेक्ट्रिक बस सेवा को गत सोमवार को हरी झंडी दिखाकर शुरू करना था लेकिन किन्हीं कारणों की वजह से इसे अंतिम समय में स्थगित करना पड़ा है। अब राज्यपाल से समय मिलने के उपरांत ही इस सेवा को आम नागरिकों के लिए शुरू कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि एसआरटीसी प्रबंधन ने श्रीनगर के लिए आई 20 इलेक्ट्रिक बस को श्रीनगर पहुंचाने में अपनी असर्थता जताई थी। इसके उपरांत टाटा मोटर्स की ओर से पोर्टेबल चार्जिंग प्वाइंट जम्मू-श्रीनगर के राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित चंद्रकोट और काजीगुंड में लगाकर 20 इलेक्ट्रिक बस की चार्जिंग कर उन्हें श्रीनगर गत 22 जून को पहुंचाया गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस