श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। केंद्र शासित जम्मू कश्मीर में ईद-उल-फितर का मुबारक त्योहार रविवार को मनाया जाएगा। मुफ्ती-ए-आजम मुफ्ती नासिर उल इस्लाम ने शनिवार को कहा कि शॉल का चांद नजर आया है। इसलिए ईद रविवार को ही है। मुफ्ती नासिर उल इस्लाम ने फोन पर बातचीत में बताया कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में शॉल का चांद नजर आया है।

राजौरी-पुंछ, जम्मू और कठुआ में भी इसे देखा गया है। इसका संज्ञान लेने के बाद हमने सभी प्रमुख उलेमाओं, मौलवियों व अन्य मजहबी नेताओं के साथ विचार विमर्श किया है। चर्चा के बाद ही हम लोगों को सूचित कर रहे हैं कि ईद का मुबारक त्योहार रविवार को होगा। सभी से अपील है कि वह ईद को सादगी से मनाएं। किसी भी जगह लॉकडाउन की अवज्ञा न करें। साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखा जाए। किसी भी जगह नमाज ए ईद के लिए भीड़ न जुटाएं। 

जानकारी हो कि रमजान के पवित्र महीने के बाद ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाता है। रमजान के पूरे महीने मुस्लिम समुदाय के लोग रोजा रखते हैं। सुबह सेहरी के साथ रोजा शुरू होता है और शाम को इफ्तार के बाद रोजा खत्म किया जाता है। रमजान का महीना तीस दिन का होता है और चांद के दिखने पर निर्भर होता है। जिस दिन चांद दिखता है उसके अगले दिन ईद का त्योहार मनाया जाता है। ईद उल फितर की सही तारीख चांद के दिखने पर ही तय की जाती है।  

इसका समय अलग-अलग देशों में अलग-अलग हो सकता है। इस्लामिक कैलेंडर की मानें तो यह चांद पर निर्भर है जो 29 या 30 दिन का होता है। चांद के दिखने से नए महीने की शुरुआत होती है।

बता दें कि सऊदी अरब, यूएई और कई खाड़ी देशों में 22 मई को ईद का चांद दिखाई नहीं दिया इसलिए 23 मई को ईद नहीं मनाई गई। वहां इस बार 30 दिन के रोजे के बाद ईद मनाई जाएगी। इसलिए वहां अब रविवार को ईद मनाई जाएगी। भारत में ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाएगा। इसी तरह भारत में भी ईद के चांद का दीदार करने के लिए लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। भारत में भी रविवार को ईद मनाई जाएगी। इस दौरान कहा गया  कि शनिवार को ईद का चांद दिखता है तो रविवार को ईद मनाई जाएगी। अगर शनिवार को चांद नहीं दिखा तो सोमवार को ईद मनाई जाएगी। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस