जागरण संवाददाता, जम्मू। कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के बाद जम्मू में अलर्ट कर दिया है। सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि आतंकी ऐसे और हमलों को अंजाम दे सकते हैं। इस कारण जम्मू में भी सेना, बीएसएफ, पुलिस, सीआरपीएफ के शिविरों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

जम्मू शहर में पहले भी आतंकी फिदायीन हमलों को अंजाम दे चुके हैं। अधिकतर हमलों को आतंकियों ने सैन्य शिविरों में घुसकर अंजाम दिया है। जिस तरह से पुलवामा में आतंकियों ने विस्फोटक से भरी गाड़ी को सीआरपीएफ के काफिले के साथ टकराकर अंजाम दिया है, उससे जम्मू में सुरक्षाबल चौकस हो गए हैं। पुलिस व सेना ने कई जगहों पर नाके लगाकर गाड़ियों की जांच शुरू कर दी है। गाड़ियों की तलाशी के लिए खोजी कुत्तों की भी मदद ली जा रही है, जो विस्फोटक पदार्थ सूंघ कर खोज निकालने में माहिर हैं।

आशंका है कि आतंकियों ने अपने हमलों की रणनीति में बदलाव किया है। कुछ दिन में सुरक्षा बलों ने सीधी लड़ाई में आतंकियों को काफी नुकसान पहुंचाया है। इस कारण आतंकियों ने इस बार विस्फोटक से भरी गाड़ी को सीआरपीएफ के काफिले के साथ टकराकर हमले को अंजाम दिया। सैन्य शिविरों के पास किसी अनजान गाड़ी को रुकने और सैन्य शिविर की ओर जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। सुरक्षाबलों के आला अधिकारियों ने जम्मू में भी बैठकें कर आगे की रणनीति पर विचार किया।

 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस