संवाद सहयोगी, बिश्नाह : भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक अश्विनी शर्मा एवं पार्टी कार्यकर्ताओं ने बिश्नाह उपजिला अस्पताल के डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ के कर्मचारियों को स्मृति चिन्ह व हार पहनाकर सम्मानित किया। बिश्नाह अस्पताल के मेडिकल आफिसर डा. राकेश मगोत्रा के नेतृत्व में बिश्नाह में कोरोना काल में टीम ने सराहनीय कार्य किया।

अब डा. राकेश मगोत्रा के नेतृत्व में ही मोबाइल वैक्सीनेशन टीम गांव-गांव में जाकर कोरोना टीकाकरण का सुचारु रूप से कार्य कर रही है। यहां तक कि डाक्टरों की टीम अब अस्पताल के बाहर जा कर ब्लाक बिश्नाह के गांव-गांव जाकर लोगों का टीकाकरण कर रही है। ताकि कोई भी व्यक्ति बिना टीकाकरण के न रहे। डाक्टरों के इस सराहनीय कार्य के देखते हुए पूर्व विधायक अश्विनी शर्मा, म्यूनिसिपल कमेटी के चेयरमैन राजन शर्मा, बीडीसी चेयरमैन सुरजीत कुमार ने डाक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के सदस्यों को स्मृति चिन्ह देकर एवं फूलमाला पहना कर सम्मानित किया।

उन्होंने बीएमओ बिश्नाह का भी धन्यवाद किया। इस मौके पर सरपंच विजय सैनी, पार्षद कुलबीर सिंह, पार्षद जय भारत, पार्षद अजय नंदा, जय सिंह, पूर्व सरपंच सुरेंद्र सिंह बिट्टू, प्रेमपाल शर्मा, कुलदीप सोढी, देवराज सहित कई भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

खौड़ में भी स्वास्थ्य कर्मियों का सम्मान : भाजपा जिला अखनूर की की ओर से मंडल खौड़ में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें किसान मोर्चा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मनमोहन सिंह ने देश में टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ छूने पर मेडिकल एवं पैरामेडिकल एवं हेल्थ वर्कर्स को माता रानी की चुनरी ओढ़ा कर, मिठाई खिला कर सम्मानित किया। मौके पर जिला महामंत्री जीएस चिब, म्यूनिसिपल कमेटी के चेयरमैन डिप्टी राम, पार्षद दीपक सिंह, सुभाष सिंह, आशा रानी, ज्योति देवी, गारो देवी, मंडल उपाध्यक्ष रोमी खजुरिया, कार्यालय सचिव संजय सिंह, महिला मोर्चा अध्यक्ष शारदा देवी, युवा मोर्चा अध्यक्ष अमित शर्मा, हेल्थ वालंटियर इंचार्ज सुषमा देवी, वरिष्ठ नेता चरण सिंह आदि मौजूद रहे। मनमोहन ने कहा कि कोरोना महामारी ने जिस तरह से पूरे विश्व को हिला दिया था, उस स्थिति में जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुआई में महामारी के खिलाफ लोग एकजुट हुए, उसी का नतीजा है कि आज पूरे देश में 100 करोड़ लोगों का निश्शुल्क टीकाकरण किया जा चुका है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों का बड़ा योगदान है, जिन्होंने जान को जोखिम डाल कर जनता की सेवा की।