जम्मू, राज्य ब्यूरो : नागरिक सचिवालय में लगाता आ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए प्रशासन ने सचिवालय में जाने वाले सभी लोगों की कोविड जांच करवाने का फैसला किया है। टेस्ट नेगेटिव आने पर ही सचिवालय के भीतर प्रवेश करने दिया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने टीमों का गठन भी किया है। नागरिक सचिवालय में अभी तक स्वास्थ्य विभाग की एक टीम ही है। यह टीम लगातार वहां पर कामकर रहे कर्मचारियों व अधिकारियों की कोरोना जांच कर रही है।

गत शनिवार को भी नागरिक सचिवालय में 31 कर्मचारी और अधिकारी संक्रमित थे। इससे पूर्व भी एक दिन में 26 कर्मचारी संक्रमित आए थे। कई ऐसे विभाग हैं जहां पर बहुत से कर्मचारी संक्रित आए हैं। सचिवालय में लगातार कर्मचारियों व अधिकारियों के संक्रमित आने से प्रशासन भी चिंतित है। अब सोमवार से स्वास्थ्य विभाग की एक टीम सचिवालय के बाहर तैनात रहेगी। यह टीम सचिवालय जाने वाले हर नागरिक की कोरोना जांच करेगी। रैपिड टेस्ट में अगर कोई नेगेटिव आएगा तो उसी को सचिवालय जाने दिया जाएगा।

वहीं एक टीम सचिवालय के भीतर तैनात रहेगी। यह टीम पहले की तरह ही सचिवालय कर्मचारियों की कोरोना जांच करती रहेगी। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि सोमवार से दोनों टीमें नागरिक सचिवालय को कोरोना मुक्त बनाने के लिए काम करेंगी। किसी भी तरह का रिस्क नहीं लिया जाएगा। लोगों को इसमें सहयोग करना चाहिए।

ज्ञात रहे की जम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमण की स्थिति विस्फोटक होती जा रही है। शनिवार को जम्मू जिले में एक दिन में सबसे अधिक 685 मामले आए। पूरे जम्मू कश्मीर की बात करें तो पिछले 24 घंटों में प्रदेश में 3251 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। करीब आठ माह बाद एक दिन में इतने मामले आए हैं। इससे पहले गत वर्ष 23 मई को 3308 लोग संक्रमित हुए थे। इसलिए प्रशासन सरकारी विभागों और सचिवालय में जांच की मुकम्मल व्यवस्था की है।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra