जम्मू, जागरण संवाददाता: सांबा, विजयपुर क्षेत्र में अभी धान की रोपाई अगले चंद दिनों में शुरू हो जाएगी। लेकिन किसानों को मलाल है कि अभी तक तवी इरीगेशन नहर की मोटी मोटी सफाई के लिए प्रशासन ने कोई कदम नही उठाया है। 11 सहायक नहरों वाली यह नहरें 268 किलोमीटर तक फैली हुई हैं। 16600 हैक्टेयर का क्षेत्र कवर करती हैं। लेकिन आधी से अधिक सहायक नहरों में इस बार सफाई हुई ही नही।

किसानों का कहना हैं कि अभी नह में पानी पूरा हैं क्योंकि किसान इस्तेमाल नही कर रहा । लेकिन अगले एक सप्ताह में जब धान की रोपाई शुरू हो जााएगी, तो पानी का स्तर अपने आप कम हो जाएगा। नहर की सफाई नही होने के कारण अवरोधक जगह जगह हैं, जोकि पानी को आगे नही बढ़ने देंगे।

समाज सेवक कुलभूषण शर्मा जोकि किसान नेता भी हैं, का कहना है कि उप राज्यपाल को चाहिए कि तवी इरीगेशन नहर व इसकी सहायक नहरों की सफाई के लिए युद्ध स्तर पर अभियान छेड़ा जाए। अगले एक सप्ताह में नहर में बने तमाम अवरोधक हटाए जा सकते हैं। इससे होगा यह कि धान की रोपाई शुरू होने पर किसानों को दिक्कतें नही आएंगी और किसानों को पूरा पानी प्राप्त होगा।

शर्मा ने कहा कि अगर अभी भी कदम नही उठाए गए तो इस बार किसानों को पानी के लिए बड़ा संघर्ष करना पड़ेगा। वहीं किसानों की पूरे मामले को लेकर बैठक भी हुई और कहा गया कि नहरों की सफाई के मामले में प्रशासन हर बार गंभीरता नही दिखाजा। इसका नुकसान किसानों को होता है जिनको सीजन आने पर पूरा पानी नही मिलता।

किसानों ने कहा कि धान की खेती के लिए बहुतायत पानी की जरूरत होती है। हालांकि इस बार बारिश के अच्छे आसार हैं, लेकिन हम प्रशासन से पूछना चाहते हैं कि उनकी तैयारी है। नहरों की सफाई को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। 

Edited By: Rahul Sharma