जम्मू, जागरण संवाददाता। सीबीआइ जम्मू ने भूमि का फर्द काटने के एवज में पचास हजार रुपये की रिश्वत मांगने के आरोपित गिरदावर को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित ने रिश्वत की राशि को 25 हजार रुपये की दो किश्तों में लेने का शिकायतकर्ता से समझौता किया था। रिश्वत की पहली किश्त यानी 25 हजार रुपये लेते वह सीबीआइ के हत्थे चढ़ गया। आरोपित गिरदावर अजय कुमार निवासी अखनूर इन दिनों मीरां साहिब के नायब तहसीलदार कार्यालय में तैनात है।

मीरां साहिब में रहने वाले एक व्यक्ति ने सीबीआइ में शिकायत दर्ज करवाई कि वह मीरां साहिब में अपनी भूमि को बेच रहा है। भूमि खरीदार के नाम पर ट्रांसफर करने के लिए उसने गिरदावर अजय कुमार से संपर्क किया। उसने अजय ने अपनी भूमि का फर्द काटने को कहा। फर्द काटने के एवज में गिरदावर अजय कुमार ने उसने 50 हजार रुपये की रिश्वत मांग की। शिकायतकर्ता ने पहले तो रिश्वत देने से इंकार किया। आरोपित गिरदावर ने उसे धमकाया कि वह बिना रुपये लिए उसकी भूमि का फर्द नहीं काटेगा। जिसके शिकायतकर्ता ने सीबीआइ जम्मू से संपर्क किया।

गिरदावर को जाल बिछाकर गिरफ्तार करने के लिए सीबीआइ ने शिकायतकर्ता को उसे शहर के नरवाल के नामी होटल में मिलने के लिए बुलाया। जैसे ही गिरदावर ने रिश्वत के 25 हजार रुपये पकड़े तो वहां पहले से सादा कपड़ों में तैनात सीबीआइ अधिकारियों ने उसे पकड़ लिया। गिरदावर की तलाशी के दौरान उससे दो लाख रुपये की नकदी बरामद हुई। उसे गिरफ्तार कर पूछताछ के लिए सीबीआइ कार्यालय में ले जाया गया। सीबीआइ अब गिरदावर की संपत्तियों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

Edited By: Vikas Abrol