जम्मू, जेएनएन : भारत पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित आरएसपुरा के अरनिया सेक्टर से एक बार पाकिस्तानी ड्राेन ने भारतीय सीमा में प्रवेश करने दुस्साहस किया। सीमा सुरक्षाबल के सतर्क जवानों ने भारतीय सीमा को लांघते ही ड्रोन को देख लिया और उस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने ड्रोन पर सात से आठ राउंड फायर किए परंतु वे ड्रोन को गिरा पाने में असफल रहे और वह पाकिस्तान लौट गया।

बीएसएफ अधिकारियों ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि यह मामला आज सुबह 4.45 बजे का है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी ड्रोन कुछ देर तो पाकिस्तानी सीमा के भीतर ही मंडराता परंतु उसके बाद उसने भारतीय सीमा में प्रवेश किया। करीक एक दो मिनट की मूवमेंट के बाद बीएसएफ के सतर्क जवानों ने उसे देख लिया और उसे गिराने के लिए सात से आठ राउंड फायरिंग की। इससे पहले की ड्रोन को गोली लगती, वह वापस पाकिस्तान की ओर लोट गया। बीएसएफ जवानों ने इसकी सूचना अपने अधिकारियों को भी दी।

ड्रोन के वापस लौटने के बाद बीएसएफ व स्थानीय पुलिस ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है। बीएसएफ अधिकारियों का कहना है कि हो सकता है कि ड्रोन की मदद से भारतीय क्षेत्र में नशे या हथियारों की खेप भेजी गई हो। फिलहाल अभी तक इस तरह की कोई भी बरामदगी होने की सूचना नहीं है। आपको बता दें कि इससे पहले गत 7 मई को भी सुबह 7.25 बजे पाकिस्तानी ड्रोन को इसी सेक्टर से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करते हुए देखा गया था।

उस दौरान भी बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन को गिराने के लिए फायरिंग की जिसके बाद ड्रोन पाकिस्तान की सीमा में लौट गया। सीमा पर पाकिस्तानी ड्रोन की गतिविधियां बढ़ने के बाद बीएसएफ ने चौकसी बढ़ा दी है। यही नहीं अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रहने वाले लोगों को भी संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए कहा गया है। गत 11 मई बुधवार रात को इसी तरह पाकिस्तानी ड्रोन ने अमृतसर बॉर्डर ऑब्जर्विंग पोस्ट (बीओपी) रानियां से भारतीय सीमा में प्रवेश करने का प्रयास किया था। उससे पहले 7 मई को पाकिस्तान ने पंजाब में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अटारी से ड्रोन की मदद से 10 किलो 600 ग्राम हेरोइन भारतीय क्षेत्र में फेंकी, जिसे बीएसएफ के जवानों ने बरामद कर लिया।

Edited By: Rahul Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट