जम्मू, राज्य ब्यूरो। श्रीनगर नगर निगम (एसएमसी) के मौजूदा मेयर जुनैद अजीम मट्टू और डिप्टी मेयर शेख इमरान के खिलाफ किलेबंदी कर रही भाजपा ने दावा किया है उसे 40 पार्षद का समर्थन है। इन सभी पार्षद ने वीरवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सुनील शर्मा के साथ बैठक भी की है। अलबत्ता, एसएमसी के मौजूदा मेयर और डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास मत आलाकमान की हरी झंडी मिलने के बाद ही स्थानीय भाजपा लाएगी।

आरिफ राजा और सुनील शर्मा के अलावा भाजपा की कश्मीर इकाई के सभी प्रमुख नेता गत वीरवार को बुलाई गई बैठक में मौजूद थे। पूर्व मंत्री ने एसएससी के मौजूदा मेयर मट्टू और डिप्टी मेयर इमरान के खिलाफ भाजपा का साथ देने वाले सभी पार्षदों से जम्मू कश्मीर की संवैधानिकि स्थिति में हुए बदलाव पर भी चर्चा की। इसी दौरान उन्होंने इन सभी से भाजपा का साथ देने की इच्छा के कारणों को भी जानने का प्रयास किया।

बैठक में मौजूद रहे भाजपा के एक नेता ने कहा कि सुनील शर्मा एसएमसी पर भाजपा का परचम फहराने के मिशन से ही श्रीनगर आए हैं। वीरवार की बैठक से वह पूरी तरह संतुष्ट रहे हैं। वह अपनी रिपोर्ट प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को देंगे। इसके बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। भाजपा ईदगाह से पार्षद चुने गए आरिफ राजा को मेयर और नजीर अहमद गिलकार को डिप्टी मेयर बनाना चाहती है। इसके लिए लगातार गैर-भाजपा पार्षदों से बैठकें की जा रही हैं।

पीपुल्स कांफ्रेंस से संबंधित हैं मौजूद मेयर और डिप्टी मेयर

श्रीनगर के मेयर जुनैद मट्टू और डिप्टी मेयर शेख इमरान दोनों का संबंध पीपुल्स कांफ्रेंस से है। मट्टू को मेयर बनाने में भाजपा का साथ रहा है, लेकिन पांच अगस्त के बाद भाजपा और पीपुल्स कांफ्रेंस के रिश्ते बदल गए हैं। सज्जाद गनी लोन, मट्टू और इमरान उन सियासी नेताओं में शामिल हैं, जिन्हें प्रशासन ने पांच अगस्त को एहतियातन हिरासत में ले लिया था। मट्टू को स्वास्थ्य के आधार पर सितंबर माह में रिहा कर दिया था और इस समय मुंबई में इलाज करवा रहे हैं। सज्जाद गनी लोन व इमरान अभी भी एमएलए हॉस्टल सबसाईडरी जेल में हैं।

दो दिन में साफ होगी स्थिति : राजा

श्रीनगर भाजपा अध्यक्ष आरिफ राजा ने कहा कि हमारे पास 40 पार्षद हैं। बेशक शुरू में भाजपा से चार ही पार्षद चुनाव जीत कर एसएमसी पहुंचे थे, लेकिन 13 अन्य पार्षदों ने भाजपा का दामन थामा है। आज भाजपा के 17 पार्षद हैं। 23 पार्षद जो अन्य दलों से हैं, हमें समर्थन देने को तैयार हैं। आज वे सभी बैठक में शामिल हुए हैं। अगले एक-दो दिन में मेयर और डिप्टी मेयर को लेकर सारी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

ऐसी की किलेबंदी

पांच अगस्त के बाद मेयर व डिप्टी मेयर ने एसएमसी की किसी भी गतिविधि में हिस्सा नहीं लिया। इसका फायदा उठा भाजपा ने किलेबंदी शुरू कर दी। भाजपा लगातार पीपुल्स कांफ्रेंस, नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस और निर्दलीय पार्षदों से लगातार बैठकें कर रहे हैं। 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस