जागरण संवाददाता, जम्मू : बाबा अमरनाथ के दर्शन को लेकर श्रद्धालु काफी उत्साहित हैं, लेकिन साधु समाज के लोगों को पंजीकरण के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। राम मंदिर में बनाए गए पंजीकरण केंद्र में सुबह से ही साधुओं की कतारें लगनी शुरू हो जाती हैं। इसके बाद भी कई साधुओं को निराश लौटना पड़ता है। शुक्रवार को 250 साधुओं का पंजीकरण किया गया, जिसमें से 200 साधुओं का पहलगाम मार्ग जबकि 50 साधुओं का बालटाल मार्ग से पंजीकरण किया गया।

पिछले दो दिनों में 250 साधुओं का पंजीकरण हो चुका है। उसके बाद भी साधुओं की भीड़ जुटी हुई है। इस समय पुरानी मंडी स्थित राम मंदिर में 1200 साधु ठहरे हुए हैं। जबकि तीन सौ साधु गीता मंदिर में हैं, जिसमें रोजाना बढ़ोतरी हो रही है। जयपुर से आए साधु जयराम का कहना है कि वह गीता भवन में ठहरे हुए हैं और तीन दिन से राम मंदिर में पंजीकरण के लिए पहुंच रहे हैं, लेकिन हर बार खाली हाथ लौटना पड़ता है। पंजीकरण के लिए कतार में लगे रहते हैं कि आवाज आती है कि कोटा पूरा हो गया।

पंजाब से आए बाबा दयाल ने बताया कि पंजीकरण के लिए कष्ट सहने पड़ रहे हैं। लंबी-लंबी कतारे लगी रहती हैं फिर भी पंजीकरण नहीं हो पाता। ऐसे में हम कहां जाएं। हम से या तो फार्म ले लिया जाए और बाद में पंजीकरण की तिथि बता दी जाए तो भी भागदौड़ से बच जाएंगे।

वहीं, पुरानी मंडी स्थित श्री राममंदिर के महंत श्री श्री 1008 के स्वामी रामेश्वर दास का कहना है कि सबको यात्रा पर भेजा जाएगा। रोज 250 साधुओं का पंजीकरण हो रहा है। साधु समाज के लोग धैर्य रखें। सभी का पंजीकरण होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप