जम्मू, राज्य ब्यूरो : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि कोविड संक्रमण के कारण गत दो सालों से अमरनाथ यात्रा न होने के कारण लाखों परिवारों को परेशानी हुई। यात्रा को लेकर जम्मू और कश्मीर दोनों ही जगहों पर लोगों में उत्साह है। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोग श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए पूरी तरह से तैयार नजर आ रहे हैं।

सुरक्षाबल अलर्ट है और यात्रा को सुचारू रूप से करवाने के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। यात्रा तीन जून से बालटाल और चंदनवाडी दोनों ही मागों पर एक साथ शुरू हो रही है। यह बात उन्होंने सोमवार शाम को बाबा अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर भगवती नगर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही।

श्री बाबा अमरनाथ की यात्रा शुरू होने से दो दिन पहले आधार शिविर पहुंचे उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने भगवती नगर में बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए किए गए प्रबंधों के बारे में जानकारी ली। उपराज्यपाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं, पर्याप्त संख्या में डाक्टर, नर्सिंग स्टाफ, सफाई कर्मचारी तैनात करें। यात्रा मार्ग पर भी सभी सुविधा हों।

इससे पहले उपराज्यपाल को अधिकारियों ने यात्रा मार्ग पर उपलब्ध सुविधाओं के अलावा भगवती नगर में पेयजल, बिजली, कचरा निस्तारण, आरएफडीआई काउंटर स्थापित करने के बारे में जानकारी दी। उपराज्यपाल ने सभी हितधारकों और विभागों में बेहतर समन्वय स्थापित कर यात्रा में बेहतर प्रबंध सुनिश्चित बनाने को कहा। उपराज्यपाल के साथ जम्मू के मंडलायुक्त रमेश कुमार, एडीजीपी मुकेश सिंह, जम्मू की जिला उपायुक्त अवनी लवासा, नगर निगत आयुक्त राहुल यादव और नागरिक व पुलिस प्रशासन के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

आपको बता दें कि यात्रा 30 जून से बालटाल और चंदनवाड़ी मार्गों पर एक साथ शुरू होगी। जम्मू से श्रद्धालुओं का पहला जत्था 29 जून को रवाना होगा। करंट पंजीकरण की प्रक्रिया भी कल यानी मंगलवार से शुरू हो जाएगी। पहले जत्थे के साथ जम्मू से यात्रा पर रवाना होने वाले श्रद्धालु आज ही जम्मू पहुंच गए हैं। प्रशासन ने श्रद्धालुओं को आज ही से आधार शिविर में प्रवेश करने की अनुमति दे दी है।

Edited By: Rahul Sharma