जम्मू, राज्य ब्यूराे : केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लेह जिले के निवासियों के प्रति जिला प्रशासन के रवैए से नाराज लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन उपराज्यपाल से विरोध जताने के साथ प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर हालात से अवगत करवाने की तैयारी में है।

लेह में गणतंत्र दिवस समारोह में लेह हिल डेवलपमेंट काउंसिल के काउंसिलरों को शामिल न होने देने से उपजे हालात में लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन ने भी जिला प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। लेह में लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन की केंद्रीय कार्यकारी समिति की बैठक में तय किया गया है कि भविष्य में लेह काउंसिल के साथ मिलकर लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन, स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर अलग समारोह का आयोजन करेग।

लेह के चौहकांग विहार मैं हुई इस बैठक के दौरान हिल काउंसिल लोगों के काउंसिलरों के साथ गणतंत्र दिवस पर किए गए व्यवहार पर कड़ी आपत्ति जताई गई। इस दौरान लेह जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे व्यवहार को काउंसिलरों के साथ लेह हिल काउंसिल के साथ भी अनुचित करार दिया गया।

संगठन का कहना है कि जिला प्रशासन ने लद्दाख के लोगों के भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है। भविष्य में प्रशासन की ऐसी किसी भी कार्यवाही को बर्दाश्त नही किया जाएगा। ऐसे में हालात पर विचार विमर्श करने के बाद संगठन के सदस्यों ने फैसला किया कि निकट भविष्य में उपराज्यपाल आरके माथुर को पत्र लिख कर लेह के प्रति प्रशासन की भेदभाव नीतियों पर आपत्ति जताई जाएगी। इस दौरान संगठन के सदस्यों ने इस पर भी सहमति जताई कि लेह जिले के मुद्दों को केंद्र सरकार की नजर में लाने के लिए जल्द प्रधानमंत्री को भी एक पत्र भी लिखा जाना चाहिए। इस दौरान अन्य कई मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

गणतंत्र दिवस समारोह के दिन लेह हिल काउंसिल के काउंसिलरों को पुलिस ने समारोह में शामिल होने के लिए वीआईपी गेट से अंदर जाने से रोक दिया था। इसके बाद गुस्साए काउंसिलर लेह प्रशासन के खिलाफ मैदान में आ गए थे। वे इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं।

प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए 2 पुलिसकर्मियों को अटैच कर मामले में जांच शुरू कर दी थी। अब लेकर लोगों का कहना है कि पुलिसकर्मियों को अटैच कर मामले में पर्दा डालने की कोशिश की जा रही है। उन वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए जिन्होंने इन पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए थे कि हिल काउंसिल हिल काउंसिल के काउंसिलरों को वीआईपी गेट पर रोका जाए। 

Edited By: Rahul Sharma