नवीन नवाज, श्रीनगर : नये कश्मीर में चारों तरफ बर्फ की सफेद चादर बिछी है। हालात खुशनुमा हैं। सामान्य जिंदगी की रफ्तार ठंडी पड़ गई है, लेकिन पर्यटन जगत में गर्मी आ गई है। पिछले 24 घंटों में कश्मीर में कई होटल मालिकों, टूर ऑपरेटरों के पास दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद व कोलकाता से पैकेज टूर के प्रस्ताव के साथ अग्रिम बुङ्क्षकग का संदेशे आए हैं।

नवंबर में कश्मीर में ऑफ सीजन माना जाता है। दिसंबर में पर्यटकों की आमद जोर पकड़ती है। कश्मीर के सभी निचले क्षेत्रों में गत वीरवार को मौसम का पहला हिमपात हुआ। पर्यटनस्थल गुलमर्ग, युसमर्ग, सोनमर्ग, खिलनमर्ग, पहलगाम और मुगल रोड में सात-आठ इंच ताजा हिमपात हुआ है। श्रीनगर में तीन से पांच इंच बर्फ गिरी। पर्यटन जगत से जुड़े लोग फूले नहीं समा रहे। उनका कहना है कि अगले एक दो माह तक चार से पांच बार हल्का हिमपात और हो जाए तो पूरी वादी पर्यटकों से गुलजार हो जाएगी।

होटल एंड टूरिस्ट ऑपरेटर एसोसिएशन के प्रधान फिरदौस अहमद ने कहा कि कल गिरी बर्फ से पहाड़ों पर काफी दिनों तक टिकेगी। अगले सप्ताह की बुकिंग के लिए मुंबई और कोलकत्ता से फोन आए हैं। डल झील में हाउसबोट के मालिक एजाज कौत्रू ने कहा कि मैंने तीन माह में सिर्फ चंद मलेशियाई पर्यटकों को देखा है। मुझे लगता है कि खुदा ने हम लोगों की हालत देख इस बार यहां बर्फबारी जल्दी करा दी है। नवंबर की शुरुआत में श्रीनगर समेत घाटी के प्रमुख शहरों में हिमपात कभी कभार ही होता है। गुलमर्ग, सोनमर्ग जैसी जगहों पर हिमपात कई बार अक्टूबर में हो जाता था। मंगलवार रात को गुलमर्ग में जब बर्फ गिरने की खबर सुनी थी तो सोच रहा था कि श्रीनगर में भी जल्द बर्फ गिरे ताकि पर्यटक यहां बर्फ देखने आएं।

इंडिया प्राइड टूर एंड ट्रैवल के संचालक रमण शर्मा ने कहा कि मैंने तीन माह के दौरान कश्मीर में सिर्फ एक पैकेज टूर किया, लेकिन सुबह से दोपहर तक मैंने पुणे, कोलकाता और इंदौर से करीब आठ टूर ऑपरेटरों से कश्मीर के लिए टूर बुक किए हैं। प्रत्येक पैकेज टूर में 30 से 50 तक के पर्यटक आ रहे हैं। कोई भी पैकेज एक सप्ताह से कम नहीं है। अगर मेरे जरिए डेढ़ से दो हजार पर्यटक कश्मीर में सैर के लिए अगले 20 दिनों में आ रहे हैं तो फिर अन्य ट्रैवल एजेंसियों के जरिए भी तो आ रहे होंगे। अगर ऐसा हुआ तो यह सात आठ वर्षों में कश्मीर में रिकॅार्ड हो सकता है।

लाल चौक के पास स्थित होटल कश्मीर पैलेस के प्रबंधक जान साब ने कहा कि हमारे लिए यह बर्फ एक नई जिंदगी का पैगाम लेकर आई है। यह बर्फबारी सिर्फ हमारा ही काम नहीं बढ़ाएगी बल्कि पूरे कश्मीर में लाख से ज्यादा लोगों के लिए रोजगार का जरिया बनेगी। अधिकांश होटल और रेस्तरां पर्यटकों की भीड़ के साथ खुलेंगे और उनमें काम करने वाले फिर रखे जाएंगे। पर्यटकों की आमद से कश्मीरी दस्तकारी का कारोबार करने वालों का सामान बिकता है। इसलिए जितने ज्यादा पर्यटक होंगे, कश्मीर में उतना ही रोजगार होगा।

पर्यटन विभाग कराएगा कई आयोजन

कश्मीर पर्यटन विभाग में अधिकारी शहनवाज ने कहा कि इस बार नवंबर में हिमपात एक तरह से मंदी की मार के शिकार कश्मीर के पर्यटन के लिए बूस्टर है। हम गुलमर्ग, सोनमर्ग, पहलगाम और श्रीनगर में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करने जा रहे हैं। स्नो स्लेजिंग, स्नो हार्सराइडिंग, स्नो गोल्फ, स्नो रगबी की प्रतियोगिताएं गुलमर्ग, सोनमर्ग में आयोजित किए जाने कार्यक्रम है। इनमें हम पर्यटकों को भी पूरा मौका देंगे। 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप