श्रीनगर, जेएनएन। दक्षिण कश्मीर के जिला पुलवाम में नमाज-ए-जुम्मा अदा करने के लिए एक मस्जिद में इकट्ठा हुए लोगों को जब पुलिस ने मना किया तो गुस्साए नमाजियों ने पुलिस पर ही पथराव शुरू कर दिया। लोगों को तितर-बितर करने के लिए बाद में पुलिस को अश्रु गैस का इस्तेमाल करना पड़ा।

कश्मीर घाटी में बढ़ते कोरोना संक्रमण का हवाला बार-बार देते हुए प्रशासन व धार्मिक संगठन लोगों से मस्जिद में न आकर घरों में ही नमाज अदा करने की हिदायत देते आ रहे हैं। अभी भी घाटी में कई ऐसे लोग हैं जो लॉकडाउन में इन दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर मस्जिदों में नमाज पढ़ने के लिए पहुंच रहे है। आज शुक्रवार को जिला पुलवामा के कासबयार द्रबगाम इलाके में एक मस्जिद में नमाज-ए-जुम्मा अदा करने के लिए करीब 100 से अधिक लोग इकट्ठा हो गए। पुलिस को इस बात का पता चल गया और वे लोगों को समझाने के लिए वहां पहुंच गए। उन्होंने लोगों को इस महामारी का हवाला देते हुए मस्जिदों से निकल अपने-अपने घरों में लौटने के लिए कहा। पुलिस की बात मानने के बजाय मस्जिद में एकत्र हुए नमाजी बाहर आए गए और उन्होंने पुलिस दल को वहां से भगाने के लिए उन पर पथराव करना शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने कड़ी कदम उठाते हुए भीड़ को वहां से हटाने के लिए दो अश्रु गैस के गोले दागे। पुलिस व लोगों के बीच हुई इस झड़प से इलाके में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात की पुष्टि करते हुए यह मामला दोपहर बाद का है। पुलिस ने मस्जिद में एकत्र हुए लोगों को समझाने का प्रयास किया। उन्होंने बात मानने के बजाय पुलिस पर ही पथराव शुरू कर दिया। मजबूरन पुलिस को लोगों को तितर-बितर करने के लिए अश्रु गैस का इस्तेमाल करना पड़ा। फिलहाल स्थिति नियंत्रित है।

यह पहली बार नहीं है जब लोगों ने सरकारी आदेश का उल्लंघन कर ऐसा किया है। पिछले सप्ताह जुम्मे के ही दिन बांडीपोरा और त्राल में भी कई लोग नमाज-ए-जुम्मा अदा करने के लिए मस्जिद में पहुंचे थे। पुलिस द्वारा मना करने पर उन्होंने उन पर पथराव कर दिया। पुलिस ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है और कइयों को गिरफ्तार भी हुई है। उन्होंने कहा कि यह छोटी बात नहीं है। ये लोग लॉकडाउन का उल्लंघन कर महामारी को फैलाने का कारण बन रहे हैं। इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस