जम्मू, राज्य ब्यूरो: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में उपराज्यपाल प्रशासन आजादी का अमृत महोत्सव को यादगार बनाएगा। देश की आजादी के 75 साल पूरा होने पर प्रदेश की दोनों राजधानियों, जिलों से लेकर पंचायत तक पंद्रह अगस्त को शान से तिरंगे फहराए जाएंगे। प्रदेश में 75 सड़कें व स्कूल समाज को दिशा देने वालों के नाम होंगी।

मुख्यसचिव डा एके मेहता ने श्रीनगर में उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू कश्मीर में आजादी का अमृत महोत्सव को कामयाब बनाने के लिए हो रही तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने जोर दिया कि सरकारी भवनों पर रोशनियां करने के साथ प्रशासन सुनिश्चित करे कि जिला, उप जिला, तहसील मुख्यालयों के साथ पंचायत स्तर पर भी राष्ट्रीय ध्वज शान से फहराए जाएं।

पंचायत प्रतिनिधि ग्रामीणों के साथ पंचायतों में तिरंगे फहराएं। कार्यक्रमों के आयोजन के दौरान कोरोना की रोकथाम संबंधी नियमों का सख्ती से पालन किया जाए।

मुख्यसचिव ने अधिकारियों से कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव में वे ऐसे 75 लोगों की पहचान करें जिन्होंने समाज की बेहतरी के लिए उल्लेखनीय योगदान दिया है। उनका सम्मान करते हुए 75 स्कूलों, सड़कों को उनके नाम किया जाना है। ऐसे स्कूलों व सड़कों की पहचान की जाए। इसके साथ ग्रामीण विकास विभग को भी निर्देश दिए कि 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में चिन्हित किए गए सभी विकास कार्य तय अवधि में पूरा हो जाएं।

प्रदेश में प्रमुख जगहों पर पंद्रह दिवसीय स्वच्छता अभियान चलाने के साथ शिक्षा विभाग आजादी पर निबंध लेखन, वाद विवाद प्रतियोगिताओं का आयोजन करे।

 

Edited By: Rahul Sharma