जागरण संवाददाता, जम्मू : जम्मू जिले में कोरोना महामारी का प्रकोप जोर पकड़ना शुरू हो गया है। शनिवार को जम्मू जिले में 263 नए मामले सामने आए। ऐसे में सक्रिय मामलों का आंकड़ा एक हजार पार कर गया है। ऐसे में कोरोना महामारी की तीसरी लहर आने की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन पूरी तरह से सतर्क हो गया है और कोविड-19 जांच में तेजी लाने के साथ अस्पतालों में मरीजों के उपचार को लेकर प्रबंधों की समीक्षा की जा रही है। शनिवार को जम्मू के डिप्टी कमिश्नर अंशुल गर्ग ने तीसरी लहर से निपटने के लिए जिले में किए गए प्रबंधों की समीक्षा करने के लिए अहम बैठक भी बुलाई जिसमें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जिले में किए गए प्रबंधों की जानकारी दी।

शनिवार को लगातार चौथे दिन भी जिले में रिकार्ड संक्रमित सामने आए। पिछले 24 घंटों की तुलना में ही जिले में नए कोरोना संक्रमितों की संख्या करीब 100 तक बढ़ गई। यह अब तक का 24 घंटे में सबसे बड़ा उछाल रहा। शुक्रवार को जम्मू जिले में 176 नए मामले सामने आए थे। जिले में अब सक्रिय मामलों का आंकड़ा बढ़कर 1007 पहुंच गया। जम्मू जिले में अभी तक ओमीक्रोन के तीन मामले आए हैं और ये तीनों मरीज भी ठीक हो चुके हैं। ऐसे में प्रशासन डेल्टा वैरिएंट के ही दोबारा एक्टिव होने की थ्योरी पर आगे बढ़ रहा है, जो दूसरी लहर के दौरान काफी घातक साबित हुआ था।

तीन दिन में जम्मू में 13 माइक्रो कंटनेमेंट जोन बने

शहर के चार इलाकों को शनिवार को माइक्रो कंटनेमेंट जोन घोषित किया गया। जगटी में ब्लाक 73 की गली नंबर 16, जानीपुर में लोअर रूप नगर के सूर्यवंशी नगर में संक्रमित के मकान वाली गली, बाहु थानांतर्गत छन्नी हिम्मत में सीआरपीएफ ग्राउंड के निकट सेक्टर छह में संक्रमित के मकान वाली गली को सील कर दिया गया है। पिछले तीन दिनों में जम्मू में 13 माइक्रो कंटनेमेंट जोन बन चुके है। जम्मू के डिप्टी कमिश्नर अंशुल गर्ग की ओर से शनिवार शाम को इस संदर्भ में आदेश जारी किया गया। आदेश में कहा गया कि इन क्षेत्रों में कोविड-19 के मामलों में अचानक आई वृद्घि को देखते हुए और क्षेत्रीय व आसपास के लोगों की सुरक्षा व स्वास्थ्य को देखते हुए इन क्षेत्रों को तत्काल प्रभाव से माइक्रो कंटनेमेंट जोन घोषित किया गया है। अगले आदेश तक ये इन क्षेत्रों में लॉकडाउन रहेगा और केवल आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई की अनुमति होगी। किसी को भी इन क्षेत्रों से बाहर आने या भीतर जाने की अनुमति नहीं होगी।

-----------------

एक सप्ताह में हुए 30 हजार टेस्ट

जम्मू जिले में शनिवार को समाप्त हुए सप्ताह में करीब 30 हजार लोगों की कोविड-19 जांच की गई। इसमें से एक तिहाई टेस्ट आरटीपीसीआर हुए जबकि शेष रैपिड टेस्ट हुए। पिछले सप्ताह की तुलना में इस सप्ताह 17 फीसद अधिक टेस्ट हुए।

हर स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन तैयार: डीसी

जम्मू के डिप्टी कमिश्नर अंशुल गर्ग ने संभावित तीसरी लहर को देखते हुए ट्वीट किया है कि प्रशासन हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। जम्मू जिले के अस्पतालों में 20 हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन उपलब्ध करवाने की क्षमता वाले प्लांट पूरी तरह से तैयार है और क्रियान्वित है। डीसी ने कहा है कि जिले के 12 अस्पतालों में इस समय 1695 ऑक्सीजन वाले बेड उपलब्ध है।

Edited By: Jagran