जागरण संवाददाता, जम्मू : यात्री वाहन विशेष कर मिनीबसों में स्टीरियो लगा कर अश्लीलता फैलाने वाले चालकों के विरुद्ध ट्रैफिक पुलिस ने वीरवार को शहर में विशेष नाके लगाकर कार्रवाई की। ट्रैफिक पुलिस का दावा है कि दिनभर में मिनीबसों में लगे सौ स्टीरियो सिस्टम को उतारकर तोड़ दिया गया। मिनीबसों में सवार यात्रियों ने ट्रैफिक पुलिस की इस कार्रवाई की सराहना की। यात्रियों का कहना है कि ट्रैफिक पुलिस इस अभियान को मात्र एक ही दिन तक न चला कर उसे रोजाना का अभियान बनाए ताकि नियमों का उल्लंघन करने वाले चालकों पर अंकुश लगे।

शहर के डोगरा चौक में ट्रैफिक पुलिस के नाके की कमान डीएसपी ट्रैफिक सन्नी गुप्ता ने संभाली। इस दौरान चालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया। नियमों का उल्लंघन करने वाले चालकों के चालान भी काटे। कई चालकों ने पुलिस को गच्चा देने के लिए सीट के नीचे स्पीकर लगा रखे थे। अक्सर पुलिस को यात्रियों विशेषकर महिला यात्री शिकायत करती हैं कि मिनीबस चालक ऊंची आवाज में अश्लील गाने बजाते हैं। इससे उन्हें असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए निकाले गए स्टीरियो को मिनीबस के टायर के नीचे रखा, और ऊपर से वाहन को गुजार दिया गया। कार्रवाई करने के बावजूद जो मिनीबस चालक अपने वाहनों से स्टीरियो को नहीं हटा रहे हैं, उनके वाहनों को मौके पर ही जब्त कर लिया गया।

----------

-ध्वनि प्रदूषण करने वाला का भी चालान

डीएसपी ट्रैफिक सन्नी गुप्ता ने बताया कि मिनीबसों में स्टीरियो लगाने वाले चालकों के विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 190 (2) के तहत पहली बार ध्वनि प्रदूषण फैलाने का चालान भी काटा गया। इसके अलावा उनके विरुद्ध मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 305 के तहत कार्रवाई की गई। वाहन से जब्त स्टीरियो सिस्टम के हिसाब से मिनीबस चालकों पर कार्रवाई की गई।

----

-बेवजह परेशान करने का आरोप

मिनीबस चालकों ने जताया रोष

ट्रैफिक पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में मिनीबस चालकों ने रोष व्याप्त करते हुए कहा कि वाहन में स्टीरियो लगाने की मांग यात्री ही करते हैं। जिस मिनीबस में स्टीरियो नहीं लगा होता, उसमें यात्री बैठते हीं नहीं है। मिनीबस चालकों ने ट्रैफिक कर्मियों पर उन्हें बिना बजह परेशान करने का आरोप लगाया।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran