जम्मू: पंजाब की तरह जम्मू कश्मीर की जनता बदलाव चाहती है। अब तक प्रदेश में जिन भी दलों ने शासन किया उन्होंने यहां के लोगों को बेहतर शिक्षा से वंचित रखा। रोजगार के नाम पर युवाओं को ठगा और केवल भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए कोई ठोस पहल नहीं की। यह कहना है आम आदमी पार्टी (आप) के जम्मू के प्रांतीय प्रभारी हरजोत सिंह बैंस का। जिन्होंने दैनिक जागरण के वरिष्ठ संवाददाता दिनेश महाजन से विशेष बातचीत में कहीं।

प्रश्न : जम्मू कश्मीर की जनता से चुनावों में आम आदमी पार्टी किन मुद्दों पर वोट मांगेगी?

उत्तर : दिल्ली के बाद पंजाब में भी आम आदमी पार्टी काे लोगों ने जिस प्रकार से अपार समर्थन दिया है यह साफ होता है कि लोग पुरानी राजनीतिक पार्टियों से तंग आ चुके है। लोग बदलाव चाहते है। ऐसे में दिल्ली मॉडल पर पंजाब के चुनाव लड़े गए और अब जिस प्रकार से पंजाब में विकास हो रहा है इस मॉडल पर जम्मू कश्मीर में भी आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी। पार्टी जम्मू कश्मीर में स्कूली शिक्षा के ढांचे को मजबूत बनाएगी। जिस प्रकार से दिल्ली में बनाया गया है। दिल्ली में स्कूली शिक्षा का माडल अब विश्व के कई देश अपना रहे है। इसके अलावा युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। जो सरकारी नौकरी ही कर पाएंगे उन्हें खुद का रोजगार शुरू करने के लिए सस्ते ऋण उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके अलावा भ्रष्टाचार को रोकने के लिए भ्रष्टाचार निरोधक कानून बनाने के साथ सरकारी कर्मचारियों को लोगों के प्रति जवाबदेह बनाया जाएगा। यदि कोई सरकारी कर्मी भ्रष्टाचार में लिप्त पाया गया तो उस पर बिना समय गवाएं कार्रवाई की जाएगी।

प्रश्न : देश में जम्मू-कश्मीर बिजली उत्पादन में पहले स्थान पर आता है लेकिन यहां हैं लोगों को महंगे दाम बिजली दी जाती है। प्रदेश में क्या पंजाब और दिल्ली की तरह लोगों को मुक्त बिजली व पानी मुहैया करवाया जाएगा?

उत्तर : आम आदमी पार्टी का यह स्पष्ट कहना है कि यदि मंत्रियों, नौकरशाहों को सरकार मुफ्त में बिजली दे सकती है तो आम आदमी को बिजली पानी मुफ्त क्यों नहीं दिया जा सकता। जम्मू कश्मीर में आप की सरकार आने पर यहां के लोगों को भारी भरकम बिजली और पानी के बिल नहीं देने होंगे। गरीबों का बिजली बिल पूर्ण रूप से माफ होंगे। बाकी लोगों को भी सस्ते दाम पर बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी। जम्मू कश्मीर में बिजली पैदा करने के इतने पर्याप्त संसाधन है, जिन्हें ठीक ढंग से उपयोग करने की जरूरत है। बिजली उत्पादन से ही जम्मू कश्मीर खुशहाल राज्य बन सकता है।

प्रश्न : आप पंजाब सरकार के सबसे युवा कैबिनेट मंत्री है। कानून की पढ़ाई करने के आप किस प्रकार से राजनीति में आ गए?

उत्तर : पंजाब विश्व विद्यालय से कानून की पढ़ाई की है। दिल्ली में अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन में मैंने बढ़ चढ़कर भाग लिया था। उसी दौरान अरविंद केजरीवाल जो अब दिल्ली के मुख्यमंत्री है के संपर्क में आया था। आंदोलन समाप्त होने के बाद जब अरविंद केजरीवाल ने राजनीतिक दल बनाने का फैसला लिया तो उस दौरान वर्ष 2013 में पंजाब में आप का गठन हुआ था। उस समय पार्टी की स्थापना करते समय केवल 5 ही लोग थे। वर्ष 2013 में उन्हें आपका पंजाब का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। इसके बाद वर्ष 2015 में पंजाब में हुए विधानसभा चुनावों में वह आप पार्टी की ओर से विधानसभा क्षेत्र सनेहवाल से चुनाव लड़ा था। वहां से चुनाव हार गए था। इस बार उन्होंने अपने गृह जिले आनंदपुर साहिब से चुनाव लड़ा और 47000 वोटों के अंतर से वह विजय हुए। जिसके बाद अरविंद केजरीवाल ने मुझ पर विश्वास करते हैं मुझे पंजाब सरकार कैबिनेट मंत्री बना कर स्कूली शिक्षा, खनन और जेल मंत्रालय बना दिया। उन्हें जो जिम्मेदारियां सौंपी गई वह उसे पूरी इमानदारी से निभा रहे है। कुछ ही महीनों में पंजाब में 6000 से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति की गई है। खनन माफिया पर नकेल कसी गई है। जिलों से जेलों में चल रहे सभी गोरखधंधे को बंद कर दिया गया है।

प्रश्न : जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाए हुए तीन वर्ष हो गए है। आम आदमी पार्टी ने अनुच्छेद 370 को लेकर क्या कहना है?

उत्तर : जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद उसे कुछ दलों ने सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी है। मामला कोर्ट के विचाराधीन है। ऐसे में पार्टी का मतलब नहीं बनता की जो मामला कोर्ट में को लेकर कोई टिप्पणी करे। कोर्ट इस मुद्दे पर जो भी फैसला लेगा वह सब को मंजूर होगा। आम आदमी पार्टी लोगों के हितों के लिए फैसला लेगी।

प्रश्न : प्रदेश जम्मू कश्मीर से आतंक की समाप्ति के लिए पार्टी के पास क्या फार्मूला है?

उत्तर : युवाओं को यदि रोजगार मिले तो वह हथियार कभी भी नहीं उठाएंगे। प्रदेश जम्मू कश्मीर में पर्यटन को विकसित करने की अपार संभावनाएं है, लेकिन इस ओर अब तक शासन करने वाले किसी भी दल ने ध्यान नहीं दिया है। आम आदमी पार्टी जब सत्ता में आएगी तो पर्यटन स्थलों को विकसित करेगी ताकि स्थानीय युवाओं को रोजगार मिले और वह आतंक या नशे की ओर रुख ना करे।

Edited By: Vikas Abrol